अंपायरों के फैसले पर सवाल उठाना इस प्लेयर को पड़ा भारी, लगा भारी जुर्माना, जानें पूरा मामला

0
122

राजस्थान रॉयल्स के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन पर चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच मैच के दौरान आईपीएल आचार संहिता के उल्लंघन के चलते मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। हालांकि, यह साफ नहीं किया गया है कि अश्विन ने क्या गलती की थी, लेकिन बीसीसीआई ने एक बयान जारी कर यह जानकारी दी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अश्विन पर यह जुर्माना अंपायरों के खिलाफ बयान देने के लिए लगा है। बीसीसीआई ने कहा ”अश्विन ने आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद 2.7 के तहत लेवल एक के अपराध को स्वीकार किया। आचार संहिता के स्तर एक के उल्लंघन के लिए मैच रैफरी का फैसला अंतिम और बाध्यकारी होता है।”

खिलाड़ियों और टीम अधिकारियों के लिए आचार संहिता का अनुच्छेद 2.7 “मैच या किसी खिलाड़ी, टीम अधिकारी, मैच अधिकारी या किसी भी मैच में भाग लेने वाली टीम में होने वाली किसी घटना के संबंध में सार्वजनिक आलोचना, या अनुचित टिप्पणी से संबंधित है। भले हीआलोचना या अनुचित टिप्पणी कभी भी की गई है।”

चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच आईपीएल मैच में ओस की वजह से अंपायरों ने खुद ही गेंद को बदलने का फैसला किया था। इससे अश्विन हैरान रह गए और उन्होंने कहा कि अंपायरों हमेशा ओस आने पर खुद ही गेंद को बदल देना चाहिए। बुधवार की रात एमए चिदंबरम स्टेडियम में भारी ओस के चलते अंपायरों दूसरी पारी के दौरान गेंद को बदल दिया था। इस मैच में अश्विन ने 25 रन देकर दो विकेट अपने नाम किए और प्लेयर ऑफ द मैच भी चुने गए।

इस मैच में राजस्थान रॉयल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 175 रन बनाए थे। इसके जवाब में चेन्नई की टीम 172 रन ही बना सकी और मैच हार गई। आखिरी गेंद जीत के लिए चेन्नई को पांच रन चाहिए थे, लेकिन धोनी सिर्फ एक रन बना सके और उनकी टीम मैच हार गई।

मैच के बाद अश्विन ने कहा कि उन्होंने पहले कभी अंपायरों को ओस के कारण गेंद बदलते हुए नहीं देखा था। उन्होंने कहा “मैं काफी हैरान हूं कि अंपायरों ने खुद ही गेंद को ओस के चलते बदल दिया। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ और मैं काफी हैरान हूं। इस साल के आईपीएल में मैदान पर लिए गए कुछ फैसलों ने मुझे थोड़ा परेशान किया है। मेरा मतलब है, (इन फैसलों ने) मुझे अच्छे या बुरे तरीके से परेशान कर दिया। ऐसा इसलिए है क्योंकि मुझे लगता है कि आपको थोड़ा संतुलित होना चाहिए।”

अश्विन ने आगे कहा “एक गेंदबाजी टीम के रूप में, हमने गेंद को बदलने के लिए नहीं कहा। लेकिन अंपायरों की सहमति से गेंद को बदल दिया गया। मैंने अंपायर से पूछा और उन्होंने कहा कि हम इसे बदल सकते हैं। इसलिए मैं उम्मीद करता हूं कि इस आईपीएल में हर बार ओस पड़ने पर वे गेंद को बदल सकते हैं, आप जो चाहें कर सकते हैं, लेकिन आपको बस आगे बढ़ने के लिए एक मानक में रहने की जरूरत है।”