Narendra Modi

12784/20 RO NO

राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का दूसरा दिन, 8 टीमों के बीच शुरू हुई अरण्यकांड प्रतियोगिता

0
185

रायगढ़: छत्तीसगढ़ में रामायण महोत्सव का आज दूसरा दिन है. कार्यक्रम की शुरुआत हनुमान चालीसा के सामूहिक पाठ से हुई. देशभर से आई अंतरराज्यीय रामायण मंडलियों के बीच अरण्य कांड पर आधारित प्रतियोगिता का आयोजन शुरू हो गया है. इसमें झारखंड, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, असम, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, गोवा और छत्तीसगढ़ की टीम हिस्सा ले रही हैं. इसके बाद शाम को बाबा हंसराज रघुवंशी और लखबीर सिंह लक्खा भजन संध्या की प्रस्तुति देंगे.


छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने रामायण महोत्सव का शुभारंभ किया. दीप प्रज्ज्वलित कर छत्तीसगढ़ी राजगीत के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गई. भजन गायक दिलीप षडंगी ने हनुमान चालीसा की मनमोहक प्रस्तुति दी. सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ किया गया. छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, ओडिशा, असम, गोवा, मध्य प्रदेश, झारखंड, उत्तराखंड सहित इंडोनेशिया और कंबोडिया की टीमों ने मार्च पास्ट किया. मुंबई से गायिका शणमुख प्रिया और भजन गायक शरद शर्मा भी रायगढ़ पहुंचे. कार्यक्रम में आए सभी कलाकारों को राजकीय गमछा और रामचरित मानस की प्रति भेंट कर सम्मानित किया गया.


देश विदेश के कलाकारों की मनमोहक प्रस्तुति

राष्ट्रीय रामायण महोत्सव के पहले दिन अरण्य कांड पर उत्तराखंड, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ के दलों के बीच प्रतियोगिता हुई. कंबोडिया से आए विदेशी कलाकारों ने मर्यादा पुरूष श्रीराम के सुंदर चरित का कंबोडियाई भाषा में मंचन किया. कर्नाटक के कलाकारों ने कन्नड़ भाषा में सीताहरण का मंचन किया.


शणमुख के गीतों पर झूमे श्रोता

रामायण महोत्सव के पहले दिन मुंबई से आई गायिका शणमुख प्रिया ने अपनी जादुई आवाज से दर्शकों का मन मोह लिया. भगवान श्रीराम को समर्पित गीतों से दर्शक झूम उठे और पूरा माहौल राममय हो गया. शणमुख प्रिया ने जय जोहार और छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया के साथ श्रोताओं का अभिवादन किया. शणमुख ने राष्ट्रीय रामायण महोत्सव के भव्य आयोजन के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया. देवा श्री गणेशा गाने के साथ अपनी प्रस्तुति की शुरुआत की और शिव तांडव और सिया राम जय राम जय जय राम के भजन गाकर कार्यक्रम में मौजूद लोगों को भक्ति रस में डुबा दिया. शणमुख ने बताया कि वो पहली बार छत्तीसगढ़ आई है और भाचा राम की धरती में पहुंचकर बहुत अच्छा लग रहा है.


सांस्कृतिक संध्या में प्रसिद्ध भजन गायक शरद शर्मा ने भगवान राम के भक्तिमय गीतों पर प्रस्तुति दी. शरद शर्मा ने बताया कि प्रभु राम की कृपा के कारण ही आज वे मां कौशल्या की जन्मभूमि और राजा राम के ननिहाल में पहुंचे हैं. इसके लिए अपने आप को काफी सौभाग्यशाली मानता हूं. यहां सब भगवान राम के मामा है. आज रामायण महोत्सव का दूसरा दिन है. आज भी देश विदेश के कलाकार अपनी भक्तिमय प्रस्तुति से राम भक्तों का मन खुश कर देंगे.