RO NO.....12737/20

अनवर ढेबर की 21 करोड़ की जमीन, दूसरे आरोपियों के पास से गहने और करोड़ों का माल ED को मिला

0
235

रायपुर । प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने छत्तीसगढ़ शराब सिंडिकेट घोटाला मामले में कांग्रेस नेता और रायपुर के महापौर एजाज ढेबर के बड़े भाई अनवर ढेबर द्वारा कथित रूप से अधिगृहीत 21 करोड़ रुपये से अधिक की भूमि का खुलासा किया है।

RO NO.....12737/20

भारतीय दूरसंचार सेवा (आईटीएस) के अधिकारी त्रिपाठी इस मामले में ईडी द्वारा पिछले हफ्ते गिरफ्तार चौथे व्यक्ति हैं। उनके पास राज्य के आबकारी विभाग में विशेष सचिव का भी प्रभार था।

अनवर ढेबर, होटल कारोबारी नितेश पुरोहित और शराब कारोबारी त्रिलोक सिंह ढिल्लों को एजेंसी ने अपनी जांच के तहत हिरासत में ले लिया है। चारों फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।

एक बयान में प्रवर्तन निदेशालय ने कहा कि छत्तीसगढ़ के रायपुर व भिलाई तथा मुंबई में हालिया दौर के छापों के फलस्वरूप “एक जेवी (संयुक्त उपक्रम) के नाम पर अपराध की आय का उपयोग करके अनवर ढेबर द्वारा नया रायपुर में अधिग्रहित 53 एकड़ भूमि (21.60 करोड़ रुपये कीमत) का पता लगाया गया।”

एजेंसी ने आरोप लगाया कि यह संपत्ति एफएल-10ए लाइसेंसधारी से अर्जित अपराध की आय को विभिन्न स्रोतों से एक सहयोगी के नाम पर प्राप्त दिखाकर खरीदी गई थी।

ईडी की ओर से कहा गया है कि 20 लाख कैश जब्त किया गया है, अरविंद सिंह नाम के कारोबारी के पास से 1 करोड़ के शेयर इन्वेस्टमेंट के सबूत मिले हैं। अरविंद भी इस सिंडीकेट का सहयोगी है इसे पकड़ा नहीं गया है। त्रिलोक ढिल्लन के पास से साढ़े 27 करोड़ की एफडी मिली है और 28 करोड़ के गहने भी जब्त किए गए हैं।