टूरिस्ट बोट हादसे में 22 लोगों की मौत, नियमों की अनदेखी थी दुर्घटना की बड़ी वजह

0
155

नई दिल्ली: केरल में मलप्पुरम जिले के तनूर इलाके में थूवलथीरम तट के पास रविवार की शाम को एक हाउसबोट के पलट जाने से 22 लोगों की मौत हो गई. मृतकों में 7 बच्चे और कुछ महिलाएं भी शामिल हैं. ये हादसा शाम को सात बजे के करीब हुआ. हादसे के समय नाव में क़रीब 40 से 50 लोग सवार थे. मौके पर राहत और बचाव काम किया जा रहा है.
राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF), दमकल विभाग के कर्मचारी और स्थानीय प्रशासन तैनात है. लापता लोगों की खोज के लिए अंडरवाटर कैमरों का इस्तेमाल किया जा रहा है.

नाव मालिक पर केस दर्ज

जो लोग निकाले जा रहे हैं उन्हें थिरुर, तनूर और कोझिकोड के अस्पताल में ले जाया गया है. जिसमें से ज़्यादातर लोगों को मृत घोषित कर दिया गया है. वहीं नाव के मालिक पर केस दर्ज कर लिया गया है. जानकारी के अनुसार इस नाव का फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं था. साथ ही नाव पर सवार लोगों को लाइफ़ जैकेट तक नहीं दिया गया था.

दो लाख रुपये मुआवजे का ऐलान

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने इस हादसे पर गहरा शोक जताया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताते हुए मृतकों के परिवारों को दो-दो लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है. पीएम मोदी ने इस घटना को लेकर ट्वीट भी किया है, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है – ”केरल के मलप्पुरम में नौका दुर्घटना में लोगों की मौत से आहत हूं. शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना. PMNRF से दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रत्येक मृतक के परिजनों को प्रदान की जाएगी.”

 

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने मौतों पर शोक व्यक्त करते हुए एक बयान जारी किया और मलप्पुरम जिला कलेक्टर को समन्वित आपातकालीन बचाव अभियान चलाने का निर्देश दिया. बयान में कहा गया है कि अग्निशमन और पुलिस इकाइयां, राजस्व और स्वास्थ्य विभागों के अधिकारी और जिले के तनूर और तिरूर इलाकों के स्थानीय लोग बचाव अभियान में जुटे हैं. यह भी कहा गया है कि मंत्री अब्दुर्रहीमन और रियास बचाव अभियान का समन्वय करेंगे.

वहीं, केरल के पर्यटन मंत्री पीए मोहम्मद रियास ने भी इस घटना पर दुख जताया है. उन्होंने घटना की जानकारी मिलने के बाद कहा कि इस हादसे में जिन लोगों की जान गई है उनमें खास तौर पर बच्चे शामिल हैं. मिल रही जानकारी के अनुसार घटना उस समय हुई जब स्कूल की छुट्टियों के दौरान बच्चे हाउसबोट की सवारी कर रहे थे. अभी भी कई बच्चों के लापता होने की सूचना है, जिनकी तलाशी के लिए विशेष अभियान भी चलाया जा रहा है.

घटना स्थल पर पहुंची पुलिस फिलहाल इस पूरे मामले की जांच में जुटी है. घटना कैसे हुई इसका पता लगाने के लिए आसपास के लोगों से भी पूछताछ की जा रही है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने घटना को लेकर कहा कि हादसा शाम करीब सात बजे हुआ है.अभी तक पानी में से निकाले गए लोगों को पास के निजी और सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया. जहां कुछ लोगों को इलाज चल रहा है.