संदिग्ध नक्सलियों ने की दो ग्रामीणों की हत्या, शव के पास पर्चे फेंककर बताई मर्डर की वजह

0
529

नारायणपुर/सुकमा: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग में अलग-अलग घटनाओं में संदिग्ध नक्सलियों ने दो ग्रामीणों की हत्या कर दी है। एक पूर्व उप सरपंच सहित दो ग्रामीणों की कथित तौर पर हत्या कर दी है। पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि संदिग्ध नक्सलियों ने ग्रामीणों पर पुलिस मुखबिर के रूप में काम करने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि बस्तर क्षेत्र के नारायणपुर जिले में रामजी डोडी नाम के व्यक्ति की हत्या कर दी गई है जबकि सुकमा जिले में एक अन्य ग्रामीण मडकाम राजू की हत्या की गई है। दोनों घटनाएं मंगलवार रात को हुई।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि धनौरा पुलिस थाना क्षेत्र (नारायणपुर) के अंतर्गत झारा गांव के पूर्व उप सरपंच डोडी की उनके घर के पास गला घोंटकर हत्या कर दी गई। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, एक दर्जन से अधिक नक्सलियों के एक समूह ने डोडी को उस समय रोक लिया जब वह पैदल अपने रिश्तेदार के घर जा रहा था। बाद में उसके परिवार के दो और सदस्यों को उसके घर से अपहरण कर लिया।

हत्या के बाद फेंके पर्चे

उन्होंने बताया कि तीनों को पास के एक जंगल में ले जाया गया जहां नक्सलियों ने डोडी की हत्या कर दी और दो अन्य लोगों को एक पोस्टर के साथ शव सौंप दिया। पोस्टर में लिखा है कि डोडी पुलिस मुखबिर के रूप में काम कर रहा था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एक अन्य घटना सुकमा जिले की है। जिले के भेजी पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत ओंधेपारा गांव में राजू पर संदिग्ध नक्सलियों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया।

पुलिस मुखबिर होने के शक पर हत्या
उन्होंने बताया कि घटनास्थल से एक पत्र बरामद किया गया है, जिसमें माओवादियों की कोंटा एरिया कमेटी ने दावा किया है कि पीड़ित पुलिस मुखबिर के रूप में काम कर रहा था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बल को घटनास्थल पर भेजा गया। दोनों जगहों पर तलाशी अभियान जारी है।