केएल राहुल बने टीम इंडिया के लिए संकटमोचक, आलोचकों को यूं दिया करारा जवाब

0
202

भारतीय ओपनर केएल राहुल ने अपनी दमदार पारी के बदौलत टीम इंडिया को शानदार जीत दिलाई है. राहुल की दमदार अर्धशतकीय पारी के बदौलत टीम इंडिया ने मुंबई वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से शिकस्त दी. इस तरह भारतीय टीम ने 3 वनडे की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है.

केएल राहुल ने अपनी इस पारी से आलोचकों को करारा जवाब दिया है. दरअसल, मुंबई वनडे में जब भारतीय टीम ने 39 रनों पर 4 विकेट गंवा दिए थे. तब ओपनिंग आए राहुल जरा भी नहीं डकमगाए. संकटमोचन बनकर राहुल ने नाबाद अर्धशतकीय पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई.

मुश्किल वक्त में राहुल ने खेली शानदार पारी

राहुल ने 91 बॉल पर 75 रनों की मैच विनिंग पारी खेली और आखिर तक नाबाद रहते हुए जीत दिलाई. यह उनके करियर की 13वीं फिफ्टी रही. मैच में भारतीय टीम ने 83 रनों पर 5वां विकेट गंवा दिया था. उस मुश्किल परिस्थिति में राहुल ने नए बल्लेबाज रवींद्र जडेजा के साथ मिलकर छठे विकेट के लिए 123 बॉल पर 108 रनों की नाबाद पार्टनरशिप करते हुए मैच जिताया.

वैसे देखा जाए, तो राहुल का वनडे में प्रदर्शन खराब नहीं रहा है. उन्होंने पिछली 10 वनडे पारियों में 3 फिफ्टी लगाई, जिसमें 2 नाबाद अर्धशतक रहे. इन 10 पारियों में राहुल ने 45 के बेहतरीन औसत से 360 रन बनाए हैं. इस दौरान नाबाद 75 रन उनकी बेस्ट पारी रही है.

टेस्ट में बुरी तरह फ्लॉप चल रहे राहुल

मगर राहुल टेस्ट और टी20 इंटरनेशनल मैच में लगातार फ्लॉप साबित हो रहे हैं. टी20 मैचों में राहुल ने कुछ अच्छी पारियों जरूर खेलीं, लेकिन वह कमजोर टीमों के खिलाफ ही आई हैं. यही कारण रहा कि पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप में भी वह आलोचकों के निशाने पर रहे थे.

टेस्ट में तो राहुल का बेहद बुरा हाल रहा है. साल 2022 के बाद से अब तक राहुल ने 6 टेस्ट मैच खेले, जिसकी 11 पारियों में 15.90 के बेहद खराब औसत से सिर्फ 175 रन ही बना सके हैं. जबकि टेस्ट की एक पारी में कई खिलाड़ी दोहरा और तीहरा शतक तक जमा देते हैं. राहुल 11 पारियों में भी दोहरे शतक के आंकड़े के करीब तक नहीं पहुंच सके.

2022 के बाद से राहुल का प्रदर्शन

6 टेस्ट मैच – 175 रन – 15.90 का औसत

14 वनडे मैच – 436 रन – 39.63 का औसत

16 टी20 इंटरनेशनल मैच – 434 रन – 28.93 का औसत