स्कूली छात्रा की छत से गिर कर संदिग्ध मौत, प्रिंसिपल और टीचर पर गैंगरेप का केस दर्ज

0
142

उत्तर प्रदेश के अयोध्या के प्रतिष्ठित सनबीम स्कूल में 10वीं की छात्रा की संदिग्ध मौत मामले में सनसनीखेज मोड़ आया है. अभी तक स्कूल की प्रिंसिपल के द्वारा परिजनों को छात्रा के झूले से गिर जाने के कारण मृत्यु होने की बात कह कर धोखा दिया जा रहा था, लेकिन पुलिस ने स्कूल का सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पाया कि छात्रा स्कूल की छत से नीचे गैलरी में गिरी थी जिससे उसकी मौत हो गई थी. सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद पूरा मामला संदेह के घेरे में है.

प्राथमिक जांच में यह भी सामने आया है कि स्कूल प्रशासन ने परिजनों और पुलिस को धोखे में रखा. जिस जगह पर छात्रा गिरी थी, उस जगह से खून के निशान साफ कर दिए थे जो निश्चित रूप से साक्ष्यों (सबूतों) को मिटाने का अपराध है. शनिवार की दोपहर मृतका के परिजनों की तहरीर पर स्कूल की प्रिंसिपल, स्कूल के प्रबंधक और एक गेम टीचर के खिलाफ गैंगरेप की साजिश रचना, हत्या कर साक्ष्य मिटाने सहित कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

पुलिस ने मुख्य आरोपी गेम टीचर अभिषेक कनौजिया को गिरफ्तार कर लिया है. इस घटना में मृतक छात्रा के परिजनों ने कैंट थाना में लिखित तहरीर दी है जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि शुक्रवार को स्कूल में छुट्टी होने के बावजूद साजिश के तहत स्कूल की प्रिंसिपल रश्मि भाटिया ने उनकी बेटी को स्कूल में बुलाया. जिसके बाद, स्कूल के प्रबंधक बृजेश यादव और गेम टीचर अभिषेक कनौजिया ने उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया. वारदात को छिपाने के लिए पीड़िता को छत से नीचे फेंक दिया गया जिसके कारण उसकी मौत हो गई.

परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने स्कूल के प्रबंधक बृजेश यादव, प्रधानाचार्य रश्मि भाटिया और गेम टीचर अभिषेक कनौजिया के खिलाफ गैंगरेप, गैंगरेप की साजिश, हत्या और हत्या के बाद साक्ष्य छुपाने, पॉक्सो एक्ट की गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच तीन डाक्टरों के पैनल द्वारा छात्रा के शव का पोस्टमॉर्टम करवाया गया है, जिसकी रिपोर्ट का इंतजार है.

पुलिस के मुताबिक, स्कूल प्रशासन काफी समय तक पुलिस और छात्रा के परिजनों को गुमराह करता रहा, लेकिन जब सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया तो सच्चाई सामने आ गई है. इस मामले में स्कूल के गेम टीचर को परिजनों ने मुख्य आरोपी बताया है. जबकि, अन्य लोगों को इस घटना में शामिल बताया है.