राजपथ नहीं अब कर्तव्यपथ, देश की इस सबसे खास सड़क के बारे में सबकुछ जानिए

0
167

दिल्ली: सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट (Central Vista Project) की एक बेहद खास योजना सेंट्रल विस्टा लॉन (Central Vista Lawns) का नाम बदलकर कर्तव्य पथ (Kartavya Path) कर दिया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 2019 में इस प्रोजेक्ट की घोषणा की थी। 10 दिसंबर 2020 को पीएम ने इस योजना की आधारशिला रखी थी। इसी योजना के तहत विस्टा लॉन तैयार हो गया है। 8 सितंबर को इसे आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। प्रधानमंत्री इसका उद्घाटन करेंगे। ऐतिहासिक राजपथ और राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडिया गेट तक फैले सेंट्रल विस्टा लॉन का नाम बदलकर अब ‘कर्तव्य पथ’ करने के पीछे भी बड़ी भूमिका है। दरअसल, केंद्र सरकार औपनिवेशिक काल के सभी नामों से एक-एक कर बदल रही है।

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट

राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडिया गेट की ये पूरी सड़क अब कर्तव्य पथ के नाम से जानी जाएगी। यह लॉन सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का हिस्सा है। इस परियोजना में नया संसद भवन, केंद्रीय सचिवालय और अन्य कई सरकारी कार्यालय भी बनेंगे। 100 साल के इतिहास में तीसरी बार राजपथ का नाम बदला गया है। पहले इसे किंग्सवे कहा जाता था। 1955 में इसका नाम बदलकर राजपथ किया गया था। 7 सितंबर को इसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ कर दिया गया।

क्या-क्या बदल गया

करीब 3 किलोमीटर लंबे इस स्ट्रेच पर पहले की तुलना में ज्यादा हरियाली होगी। पर्यटकों के लिए ज्यादा सुविधाएं होंगी। इंडिया गेट के आसपास का पूरा नजारा बदल जाएगा। कर्तव्य पथ आधुनिक सुविधाओं के साथ 19 महीने बाद खुलेगा। इसके बाद इंडिया गेट एकदम नए अवतार में लोगों के सामने होगा।

शुरू के 2 महीने फ्री रहेगी पार्किंग

सेंट्रल विस्टा लॉन में शुरुआत में पार्किंग शुल्क शून्य होगा मतलब कोई पार्किंग चार्ज नहीं लिया जाएगा। इसके बाद NDMC किराया तय करेगी जो ज्यादा नहीं होंगे। माना जा रहा है कि नए रंग रूप में इस लॉन के देखने ज्यादा पर्यटक आएंगे। ऐसे में यहां सुविधाएं भी उसी स्तर की रखी गई हैं।

इतिहास का गवाह रहा है कर्तव्य पथ

कर्तव्य पथ वास्तव में आम आदमी के लिए एक सड़क बन गई है। इस जगह से देश ने आजादी के बाद कई विरोध आंदोलनों का जन्म होते देखा है। 1988 में यहां से किसानों का विशाल विरोध प्रदर्शन हुआ था। 2012 में निर्भया की मौत के बाद विरोध प्रदर्शन भी यहीं हुआ था। साल 2019 में सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का गवाह भी ऐतिहासिक कर्तव्य पथ रहा है। इसके अलावा हर साल देश अपनी सैन्य ताकत और सांस्कृतिक विविधता का नजारा भी इसी ऐतिहासिक कर्तव्य पथ पर देखता है।

NDMC ने सर्वसम्मति से नाम बदलने का प्रस्ताव पास किया

नई दिल्ली म्युनिसिपल काउंसिल ने आज राजपथ का नाम कर्तव्य पथ करने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पास कर दिया। प्रेजाडिंसग ऑफिसर, मीनाक्षी लेखी, चेयरपर्सन भूपिंदर एस भल्ला, उपाध्यक्ष सतीश उपाध्याय, सदस्य वीरेंद्र सिंह कादियान, सदस्य कुलजीत सिंह चहल, सदस्य विशाखा शालिनी, सदस्य गिरी सचदेवा, सदस्य डी थारा, सदस्य आशुतोष अग्निहोत्री, सचिव विक्रम सिंह मलिक ने इस प्रस्ताव पर मुहर लगाई।

लोगों के लिए ढेर सारी सुविधाएं

9 सितंबर से जब यह आम लोगों के लिए खोला जाएगा तो सुविधाएं भी खास होंगी। यहां 1125 कारों के अलावा 40 बसों के लिए भी पार्किंग की सुविधा है। शॉपिंग करने आने वाले लोगों के लिए 5 वेंडिंग जोन होंगे। ये लोग छोटे-छोटे बास्केट में सामान बेचेंगे।

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में बनेगा नया संसद

सेंट्रल विस्टा रीडिवलेपमेंट प्रोजेक्ट के तहत त्रिकोणीय आकार का नया संसद भवन, एक साझा केंद्रीय सचिवालय, विजय चौक से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ का कायाकल्प, नया प्रधानमंत्री आवास, प्रधानमंत्री कार्यालय और उपराष्ट्रपति आवास बनाया जाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here