7 साल से जिसकी हत्या में जेल में बंद है शख्‍स, वो पति और बच्चों के साथ खुशहाल जिंदगी जीते मिली

0
182

 

7 साल से जिसकी हत्या में जेल में बंद है शख्‍स, वो पति और बच्चों के साथ खुशहाल जिंदगी जीते मिली
7 साल से जिसकी हत्या में जेल में बंद है शख्‍स, वो पति और बच्चों के साथ खुशहाल जिंदगी जीते मिली
अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक युवक जिस लड़की की हत्या के मामले में 7 साल से जेल में बंद है, वो हाथरस से जिंदा बरामद हुई है। पुलिस ने लड़की को कोर्ट में पेश किया है। पीड़ित युवक की मां ने कोर्ट से कार्रवाई की गुहार लगाई है। विष्णु नाम का युवक पिछले 7 साल से लड़की के अपहरण और हत्या के मामले में जेल की सजा काट रहा है। 7 साल पहले आगरा में मिले एक अज्ञात शव को अपनी बेटी के शव बताने वाले पिता ने बरामद लड़की को अपनी वही बेटी बताया है। पुलिस ने बरामद लड़की को 164 के बयान और डीएनए कराने की अपील के साथ कोर्ट में पेश किया है। जेल में बंद युवक विष्णु की मां और परिजनों ने न्याय की गुहार लगाते हुए आरोपियों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई की मांग की है।पिछले दिनों थाना गोंडा के ढांठौली गांव निवासी सुनीता एसएसपी कलानिधि नैथानी से मिली थी। उन्होंने बताया कि उनके निर्दोष बेटे को गांव की एक किशोरी के अपहरण और हत्या के मामले में जेल भेजा गया है। कुछ समय पहले उन्हें सूचना मिली कि वह लड़की जिंदा है। किसी के साथ शादी कर कहीं रह रही है। यह सुनकर एसएसपी ने थाना पुलिस को गंभीरता से जांच कर सच्चाई का पता लगाने का निर्देश दिया। इसके बाद थाना पुलिस ने गहराई से जांच शुरू की और लड़की को हाथरस से बरामद कर सोमवार को कोर्ट में पेश किया।

पीड़ित के मां के गुरु को मिला था सुराग

विष्णु को न्याय दिलाने के लिए उसकी मां सुनीता का सहयोग कर रहे उनके वृंदावन निवासी गुरु भागवताचार्य उदय कृष्ण शास्त्री ने आरोप लगाते हुए बताया कि लड़की का किसी युवक के साथ प्रेम संबंध था। वह अपने उसी प्रेमी के साथ हाथरस के एक गांव में पहुंच गई थी, उसने अपने प्रेमी के साथ शादी कर ली थी।इसकी जानकारी उन्हें तब हुई जब वह उस गांव में भागवत करने के लिए गए थे। वहां उस किशोरी का फोटो दिखा कर गांव में पूछताछ की। इसके बाद ग्रामीणों ने उस किशोरी को कई वर्ष पूर्व वहां आने की जानकारी दी। उदय कृष्ण शास्त्री ने बताया कि लड़की गांव में आराम से अपने पति और दो बच्चों के साथ जिंदगी गुजार रही थी।