RO NO.....12737/20

राहुल गांधी ने 2020 से अब तक 113 बार सुरक्षा के नियमों का उल्लंघन किया, कांग्रेस की चिट्ठी पर CRPF का जवाब

0
129

कांग्रेस ने बुधवार को राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक के मामले पर गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिखी थी. इसे लेकर सीआरपीएफ ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को जवाब सौंपा है. सीआरपीएफ ने गृह मंत्रालय को बताया कि राहुल गांधी ने 2020 से अब तक 113 बार सुरक्षा के नियमों का उल्लंघन किया है. सीआरपीएफ के मुताबिक, कई बार भारत जोड़ो यात्रा के दौरान भी ऐसा हुआ है.

RO NO.....12737/20

CRPF ने कांग्रेस के आरोपों पर गृह मंत्रालय को बताया कि गाइडलाइन के मुताबिक ही राहुल गांधी की सुरक्षा का इंतजाम किया गया था. सीआरपीएफ के मुताबिक, दौरों पर व्यक्ति की सुरक्षा का जिम्मा राज्य पुलिस के समन्वय से CRPF का होता है. गृह मंत्रालय द्वारा राज्य सरकारों सहित संबंधित सभी हितधारकों को खतरे के आकलन के आधार पर सलाह जारी की गई है.

राहुल गांधी ने सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया- CRPF

CRPF के मुताबिक, प्रत्येक दौरे के लिए अग्रिम सुरक्षा संपर्क (ASL) भी किया जाता है. राहुल गांधी की दिल्ली यात्रा से पहले 22 दिसंबर को सभी हितधारकों को शामिल कर ASL किया गया था. यात्रा के दौरान सभी सुरक्षा दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन किया गया और दिल्ली पुलिस ने जानकारी दी है कि सुरक्षाकर्मियों की पर्याप्त तैनाती की गई थी.

CRPF के मुताबिक, ​संरक्षित व्यक्ति के लिए की गई सुरक्षा व्यवस्था तब ठीक काम करती है, जब संरक्षित व्यक्ति स्वयं निर्धारित सुरक्षा गाइडलाइन का पालन करता है. वहीं, कई मौकों पर राहुल गांधी की ओर से निर्धारित नियमों का उल्लंघन देखा गया है और इस बारे में समय समय पर जानकारी दी गई है.

कांग्रेस ने क्या कहा था?

दरअसल, कांग्रेस ने राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में सुरक्षा की चूक का आरोप लगाते हुए गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिखी थी. कांग्रेस का आरोप है कि दिल्ली पुलिस राहुल की सुरक्षा के मुद्दे में पूरे तरह से विफल रही है. कांग्रेस महासचिव ने चिट्ठी में लिखा था, जैसे ही यात्रा 24 दिसंबर को दिल्ली पहुंची. उसके बाद कई बार राहुल गांधी की सुरक्षा में सेंध लगी और दिल्ली पुलिस भीड़ को काबू करने और उनके चारों ओर के सुरक्षा के घेरे को मेंटेन करने में असफल रही. राहुल गांधी को Z प्लस सिक्योरिटी मिली है. केसी वेणुगोपाल ने शिकायत में कहा कि इसके बाद स्थिति काफी बिगड़ गई. कांग्रेस कार्यकर्ताओं और भारत यात्रा में शामिल यात्रियों को सुरक्षा का घेरा बनाना पड़ा.

केसी वेणुगोपाल ने लिखा, दिल्ली पुलिस मूकदर्शक बनी रही और भीड़ को रोकने में नाकाम रही. इसके अलावा इंटेलिजेंस ब्यूरो का इस्तेमाल उन लोगों को डराने धमकाने में किया जा रहा है जो राहुल गांधी से मिल रहे हैं. आईबी उनसे लगातार पूछताछ कर रही है.