वायरल वीडियो पर इंडिगो की एयर होस्टेस के समर्थन में आए जेट एयरवेज के CEO, बोले- ग्राहक हमेशा सही होता है, जब तक…

0
200

हाल ही में एयरलाइन इंडिगो की एक एयर होस्टेस और एक यात्री के बीच फ्लाइट में हुई गरमागर्म बहस का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. आम तौर पर यात्रियों के गुस्से को चुपचाप सह जाने वाले केबिन क्रू को शायद पहली बार बदतमीजी का विरोध करते देखा गया.

जेट एयरवेज के CEO ने किया केबिन क्रू का समर्थन

इस बीच अब एक अन्य एयरलाइन जेट एयरवेज के सीईओ संजीव कपूर ने वायरल वीडियो पर प्रतिक्रिया दी है. संजीव कपूर ने अपने ट्विटर प्रोफाइल पर ये वीडियो पोस्ट किया और कुछ साल पहले का कुछ ऐसा ही अनुभव साझा किया. उन्होंने एयर होस्टेस के साथ सहानुभूति व्यक्त की और बताया कि कैसे कुछ यात्री अपने रूखे स्वभाव से केबिन क्रू के आत्मविश्वास को हिला देते हैं.

उन्होंने लिखा “जैसा कि मैंने पहले कहा है, चालक दल भी इंसान हैं. इस एयर होस्टेस को इस ब्रेकिंग पॉइंट पर आने में काफी समय लगा होगा. पिछले कई सालों में, मैंने क्रू को फ्लाइट में थप्पड़ खाते और गाली सुनते देखा है. कभी उन्हें ‘नौकर’ कहा जाता है तो कभी इससे भी बुरा. आशा है कि ये एयर होस्टेस इस दबाव के बावजूद अभी ठीक हो.”

अपमान करना कभी भी ठीक नहीं है

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने एक 19 वर्षीय केबिन क्रू मेंबर द्वारा अनुभव की गई उस भयावह घटना को साझा किया, जिसे एक यात्री ने थप्पड़ मार दिया था. उन्होंने लिखा “मुझे कुछ साल पहले की एक घटना याद आती है, जहां सिर्फ 19 साल की उम्र की एक नई क्रू को एक यात्री द्वारा इसलिए थप्पड़ मार दिया गया था क्योंकि उसकी पसंद का खाना फ्लाइट में नहीं था. मैं उसी दिन उससे मिला था. वह दुखी थी और उसने कहा कि वह इसके लिए नौकरी करने नहीं आई है. उसने उसी दिन जॉब छोड़ दिया. इसके आगे कपूर ने जोर दिया कि मौखिक रूप से उल्टा सीधा बोलना या शारीरिक रूप से केबिन क्रू को कोई क्षति पहुंचाना या किसी भी तरह से उनका अपमान करना कभी भी ठीक नहीं है.

उन्होंने कहा “उस समय भारत में कोई अनियंत्रित यात्री नीति नहीं थी. यह उन घटनाओं में से एक थी जिसके कारण अंततः इससे जुड़ा नियम बनाया गया. जैसा कि मैंने हमेशा कहा है, ग्राहक हमेशा सही होता है… जब तक कि वह गलत न हो. शारीरिक या मौखिक दुर्व्यवहार या अपमान कभी भी स्वीकार्य नहीं है.”

क्या है मामला?

दरअसल, इंडिगो की एक एयर होस्टेस की इस्तांबुल-दिल्ली फ्लाइट में एक यात्री के साथ तीखी बहस हो गई. जैसा कि वायरल वीडियो में देखा जा सकता है, केबिन क्रू का एक सदस्य यात्रियों को खाना परोस रहा था, तभी यह बहस हुई. इसके बाद एयर होस्टेस ने यात्री को समझाने की कोशिश की और उनसे चालक दल के साथ विनम्रता से बात करने का अनुरोध किया. लेकिन यात्री ने चिल्लाना जारी रखा और एयर होस्टेस पर चिल्लाते हुए कहा, ‘चुप रहो’, एयर होस्टेस ने शख्स को अपने लहजे पर ध्यान देने और चालक दल से इस तरह से बात न करने को कहा. एयर होस्टेस ने कहा कि आप क्यों चिल्ला रहे हैं. यात्री ने जवाब दिया, ‘क्योंकि आप हम पर चिल्ला रहे हैं!’

‘कर्मचारी हूं, आपकी नौकर नहीं’

इतने में एक अन्य एयर होस्टेस ने मामले को सुलझाने की कोशिश की. लेकिन एयर होस्टेस और यात्री के बीच की बहस जारी रही. उसने कहा, ‘नहीं, मुझे बहुत खेद है, सर, लेकिन आप क्रू से इस तरह बात नहीं कर सकते> मैं आपको पूरे सम्मान के साथ शांति से सुन रही हूं, लेकिन आपको क्रू का भी सम्मान करना होगा. आप मुझसे इस तरह बात नहीं कर सकते. मैं भी यहां एक कर्मचारी हूं.’ मामला तब और बिगड़ गया जब यात्री ने एयर होस्टेस को ‘नौकर’ कहा. उसने पलटवार करते हुए कहा, ‘हां, मैं एक कर्मचारी हूं. मैं आपकी नौकर नहीं हूं.’