Narendra Modi

12784/20 RO NO

सीएम भूपेश बघेल आज पेश करेंगे ‘भरोसे का बजट’, आदिवासी और कर्मचारियों को हैं उम्मीदें

0
210

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज छत्तीसगढ़ का बजट पेश करेंगे। यह सीएम बघेल के कार्यकाल का अंतिम बजट होगा। चुनावी साल होने से नई सौगातों के साथ मुख्यमंत्री बघेल आखिरी बजट पेश करेंगे। दोपहर साढ़े 12 बजे बजट सदन के पटल पर रखा जाएगा। बजट को राज्य सरकार ‘भरोसे का बजट’ के नाम से पेश कर रही है।

बजट से यह हैं उम्मीदें
माना जा रहा है कि इस बार का बजट एक लाख 15 हजार करोड़ रुपये या इससे ज्यादा का हो सकता है
बजट में सरकार का पूरा फोकस गांव, गरीब, किसान, मजदूर, युवा और कर्मचारियों पर रहने की उम्मीद है
छत्तीसगढ़ सरकार गरीबों को आवास देने की योजना भी लांच कर सकती है
इस कार्यकाल में भूपेश सरकार का यह आखिरी बजट होगा

सरकार पहली बार ई बजट करेगी पेश
छत्तीसगढ़ की सीएम भूपेश बघेल की सरकार पहली बार ई बजट पेश करेगी। इससे पहले बता दें कि प्रदेश में बजट पेश करने की शुरुआत 2001 से हुई थी। तत्कालीन वित्त मंत्री रामचंद्र सिंहदेव ने करीब 1300 करोड़ रुपये का अंतरिम बजट पेश किया था। इसके बाद 2001-02 के लिए आम बजट आया।

एक लाख चार हजार 603 करोड़ रुपये का था पिछला बजट
पिछले साल 2022 का बजट एक लाख चार हजार 603 करोड़ रुपये का था। इसमें खास तौर पर पुरानी पेंशन योजना बहाल की गई थी। मूल निवासी छात्रों को व्यापम और पीसीएस की परीक्षा में परीक्षा शुल्क से छूट दी गई थी। इसके साथ ही विधायकों की निधि दो से बढ़ाकर चार करोड़ की गई थी। खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने राजीव युवा मितान क्लब के लिए 75 करोड़ का प्रावधान किया गया था।

सीएम ने कहा- इसलिए है भरोसे का बजट
उन्होंने कहा कि यह उस भरोसे का बजट है जिसने छत्तीसगढ़ को ‘नवा छत्तीसगढ़’ बनने का संबल दिया है। यह वही भरोसा है जो आपने हमारे घोषणापत्र पर, हमारी कार्यशैली पर और हमारी सरकार की जनकल्याणकारी सोच पर जताया है। हमने सरकार बनते ही महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज के संकल्प और न्याय की नीति को आकार देना शुरू कर दिया था। इस दौरान बीते वर्षों में आई चुनौतियों से सभी परिचित हैं। चाहे वह कोरोना जैसी वैश्विक आपदा की चुनौती हो या अन्य चुनौतियां जिन्हें आप सब समझते हैं। लेकिन यह कहते हुए गर्व होता है कि इन सभी चुनौतियों का सामना करते हुए हम बाहर निकले हैं और इस समय हम सबसे अच्छे आर्थिक प्रबंधन वाले प्रदेशों में से एक हैं। आपके ही ‘भरोसे’ का परिणाम है कि देशभर में मंदी होने के बाद भी छत्तीसगढ़ के बाजारों में रौनक हैं। सबसे कम बेरोजगारी दर छत्तीसगढ़ में है। देशभर में छत्तीसगढ़ ने धान खरीदी में भी रिकॉर्ड तोड़ा है। प्रदेश में सुदूर अंचलों के आदिवासियों तक नई योजनाएं पहुंची हैं। साथ ही स्वास्थ्य, शिक्षा का छत्तीसगढ़ मॉडल देशभर की सरकारें अपना रही हैं।

आसमान में नहीं जमीन पर बात करेगा ‘बजट’
उन्होंने कहा कि बजट देश के सपनों को नई हकीकत देने वाला होगा, जो आसमान में नहीं जमीन पर बात करेगा। इस दौरान सीएम ने भरोसा बनाए रखने के लिए जनता को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि साथ ही यह जिम्मेदारी भी आप सबके कंधों पर रखना चाहूंगा कि छत्तीसगढ़ को नकारात्मकता से भर देने वालों को पहचानिए और नवा छत्तीसगढ़ की यात्रा को सब लोग मिलकर रफ्तार दीजिए।

रविवार की शाम को सीएम ने किया था संबोधित
इससे पहले, रविवार की शाम को सीएम ने प्रदेश की जनता को संबोधित किया। एफएम रेडियो पर सीएम ने जनता के नाम संबोधन में कहा कि प्यारे प्रदेशवासियों मैं सोमवार को भरोसे का बजट पेश करूंगा। हमारा राज्य देश को रास्ता दिखा रहा है। लोगों का नजरिया बदला है।

एक लाख करोड़ से ज्यादा का हो सकता है बजट
चर्चा है कि बजट एक लाख करोड़ से ज्यादा का हो सकता है। सीएम भूपेश बघेल गृह विभाग, कृषि, स्वास्थ्य रोजगार, संबंधित विभागों के अलग-अलग मंत्रियों और अफसरों से चर्चा कर बजट का अंतिम रुपरेखा तैयार की है।