भारत में सुबह-सुबह कांपी धरती, यहां महसूस किए गए भूकंप के तेज झटके

0
146

नई दिल्ली. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के निकोबार द्वीप क्षेत्र में सोमावर की सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी की रिपोर्ट के मुताबिक भूकंप के झटके सुबह करीब 5 बजकर 7 मिनट पर महसूस किए गए हैं. रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 5.0 मापी गई है. हालांकि अभी तक किसी भी तरह के नुकसान की पुष्टि नहीं हुई है.

तुर्की और सीरिया में आए भूकंप ने पूरी दुनिया को डरा कर रख दिया है. करीब 50 हजार लोगों की मौत के बाद से लोग भूकंप को लेकर सहमे हुए हैं. भारत के भी कई राज्य भूकंप के सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र में आते हैं. भारतीय मानक ब्यूरो ने देश को पांच अलग-अलग भूकंप जोन में बांटा हुआ है. पांचवें जोन में आने वाले इलाकों को सबसे ज्यादा खतरनाक और सक्रिय माना जाता है. इस जोन में आने वाले राज्यों में सबसे अधिक तबाही की आशंका बनी रहती है.

पांचवें जोन में कई राज्य शामिल
सबसे कम जोखिम पहले जोन में होता है. पांचवें जोन में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल का पश्चिमी हिस्सा, गुजरात का कच्छ, उत्तराखंड का पूर्वी इलाका, उत्तरी बिहार का इलाका, भारत के सभी पूर्वोत्तर राज्य, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह शामिल हैं. दूसरे जोन में राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, तेलंगाना और तमिलनाडु का कुछ हिस्सा आता है.

देश की 11 फीसदी जमीन का हिस्सा पांचवें जोन मेंचौथे जोन में लद्दाख, हिमाचल और उत्तराखंड का कुछ इलाका, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के उत्तरी इलाके, बिहार और पश्चिम बंगाल का थोड़ा हिस्सा, गुजरात, पश्चिमी तट के पास महाराष्ट्र का कुछ हिस्सा और पश्चिमी राजस्थान का कुछ इलाका आता है. बता दें कि पांचवें जोन में देश की कुल जमीन का 11 फीसदी हिस्सा आता है. वहीं चौथे जोन में 18 फीसदी, तीसरे और दूसरे जोन में 30 फीसदी जमीन आती है.