Narendra Modi

12822/ 18 RO NO

महापौर एजाज ढेबर ने पेश किया बजट, 1600 करोड़ से संवरेगा रायपुर, जानिए, महिलाओं, बुर्जुगों और युवाओं को क्या मिलेगा

0
196

रायपुर: “जो दुनिया को देखने की अलग नजर रखता है, वही बुलंदियों को छूने का सही हुनर रखता है” इसी शेर के साथ रायपुर के महापौर एजाज ढेबर ने आज निगम मुख्यालय गांधी भवन में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायकों और सत्तापक्ष व विपक्ष के समस्त पार्षदों के समक्ष कुल 1608 करोड़ का निगम का चौथा बजट पेश किया।

अपने बजटीय भाषण में एजाज ढेबर ने कहा कि “रायपुर की विकास यात्रा का गौरवशाली इतिहास रहा है। रायपुर के शहरी सरकार का इतिहास लगभग 156 वर्ष के अतीत को अपने में समेटे हुए हैं। इस पुराने व अग्रगामी शहर के विकास की जिम्मेदारी जनता ने हमें सौंपी है, जिसे आगे बढ़ाना हमारा परम कर्त्तव्य है और हम इसे द्रुत गति से आगे बढ़ा रहे हैं।”

बजट में महापौर ढेबर ने वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के लिये 2 करोड़ का प्रावधान किया, तो वहीं 1000 सीटों की शहरी महिला आजीविका केंद्र प्रारम्भ करने का ऐलान किया। निगम के अंतर्गत गरीबों के आवास के लिये 39 करोड़ 50 लाख का प्रावधान किया। युवाओं को रोजगार के लिये 10 करोड़ की लागत से बीपीओ प्रारम्भ करने की घोषणा की।

शहर के बड़े नालों को बनाना, मरम्मत, सीमेंट की सड़कें, डामरीकरण, मास्टर प्लान के अनुसार सड़के बनाना, फुटपाथ का डेवलपमेंट वगैरह करने के लिए 128 करोड़ 60 लाख 19 हजार रुपए का प्रावधान किया गया है।
पीने की पानी की समस्या को दूर करने के लिए 82 करोड़ 75 लाख 61000 का प्रावधान किया गया है, जिसमें पेयजल से जुड़ी सुविधाएं लोगों तक पहुंचाई जाएंगी।
आम शहरियों को मच्छर, आवारा कुत्ते और कचरे की समस्या से निजात दिलाने के लिए 93 करोड़ 41 लाख 76000 का प्रावधान किया गया है । इसमें साफ सफाई मशीन की खरीदारी दवाइयां उपलब्ध कराने जैसी बातें शामिल हैं।
गरीबों की मदद करने 96 लाख 78000 रुपए का प्रावधान किया गया है, इसमें समाज सामाजिक कल्याण की योजनाएं चलाई जाएंगी।
रायपुर शहर की गरीब महिलाओं के लिए कुटीर उद्योग स्थापित करने और उन्हें स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए 46 लाख 76000 का प्रावधान किया गया है।
अनुसूचित जाति जनजाति वालों के वार्डों के विकास के लिए भी अलग से प्रावधान किया गया है । 8 करोड़ 58 लाख 18000 रुपए इस पर खर्च किए जाएंगे। इस वर्ग के युवाओं और महिलाओं के व्यवसायिक प्रशिक्षण के कार्यक्रम भी नगर निगम चलाएगा।
युवाओं के खेलकूद से जुड़ी सुविधाओं को शहर में विकसित करने के लिए 2 करोड़ 50 लाख का प्रावधान किया गया है।
रायपुर शहर की हरियाली बढ़ाने के लिए 19 करोड़ 84 लाख 81000 का प्रावधान किया गया है इसमें नए पार्क डेवेलप किए जाएंगे रायपुर शहर में 10 किलोमीटर के भीतर नगरीय वन विकास की अनुमति दी जाएगी।
छत्तीसगढ़ी भाषा के प्रचार प्रसार के लिए संगोष्ठी का आयोजन भी नगर निगम कराएगा । इसके लिए 3 करोड़ 93 लाख 94000 रुपए तय किए गए हैं। नगर निगम के कर्मचारियों और जनता के लिए संगीत क्लब और सांस्कृतिक क्लब भी शुरू किए जाएंगे।
सबके लिए आवास योजना के तहत 39 करोड़ 50 लाख, बीएसयूपी के लिए 30 करोड़,अमृत मिशन के लिए 150 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
रायपुर शहर की सड़कों की मरम्मत का काम करीब 1 करोड़,सरोवर धरोहर योजना के तहत तालाबों का संरक्षण करीब 5 करोड रुपए , राजीव आवास योजना के लिए भी 40 लाख रुपए रखे गए हैं। खेल मैदानों को बेहतर करने के लिए 5 करोड़ा 50 लाख की राशि खर्च की जाएगी।
रूरल इंडस्ट्रियल पार्क की तर्ज पर शहर में अर्बन कॉटेज एवं सर्विस इंडस्ट्रीज पार्क लगाए जाएंगे । इसके लिए 2 करोड़।
रायपुर नगर निगम के हर वार्ड में सतत निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे आधुनिक शौचालय बनाए जाएंगे और लाइटिंग की व्यवस्था भी की जाएगी इसके लिए 5 करोड़ दिए जाएंगे।
रायपुर शहर में स्मार्ट हेल्थ कियोस्क लगाए जाएंगे जिसमें बीपी शुगर की जांच होगी और निशुल्क सेवाएं दी जाएगी । रायपुर नगर निगम क्षेत्र में 50 ऐसे कियोस्क लगाए जाने की तैयारी है, 3 करोड़ का प्रावधान है।
रायपुर शहर में जलभराव की समस्या को देखते हुए बाढ़ नियंत्रण और ड्रेनेज सिस्टम की बेहतरी के लिए 18 करोड़, जी 20 समिट की तैयारी के लिए 20 करोड़ खर्चने की तैयारी है।
रायपुर शहर के फूल चौक से आजाद चौक तक सड़क का चौड़ीकरण होगा स्थानीय लोगों की सहमति के साथ। फ्लाईओवर भी बनाया जाएगा।
रायपुर नगर निगम क्षेत्र में आवारा कुत्तों की समस्या से निजात पाने के लिए डॉग शेल्टर का निर्माण किया जाएगा इसके लिए प्रथम चरण में 48 लाख 50000 रुपए का प्रावधान किया गया है।
महादेव घाट के पुल सौंदर्यीकरण और वर्टिकल गार्डन बनाने के लिए 1 करोड़, शहर के सभी गार्डन में बच्चों के लिए खेलने के सामान लगाए जाएंगे इसके लिए 2 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
शहर के सभी बाजारों में प्रकाश व्यवस्था, पीने के पानी, सुलभ शौचालय अंडरग्राउंड केबल सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था की जाएगी। शहर रायपुर शहर की सभी नालियों को कवर्ड करने का काम किया जाएगा।
रायपुर शहर में 1 से लेकर 10 साल तक की उम्र के बच्चों के शैक्षणिक विकास और खेलकूद मनोरंजन के लिए अप्पू घर बनाए जाएंगे।

महिला और बाल विकास को ध्यान में रखते हुए नगर निगम क्षेत्र में 1000 की क्षमता वाले शहरी महिला आजीविका केंद्र शुरू किए जाएंगे, यहां महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी।
रायपुर शहर के बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिलाने के मकसद से हाईटेक सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर सुविधा सहित बीपीओ सेंटर शुरू किए जाएंगे इसके लिए 10 करोड़ का प्रावधान है।
रायपुर शहर से बहकर नदी में पहुंचने वाले 17 नालों के पानी को शुद्ध किया जाएगा, मोहल्ला क्लीनिक और मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की कवरेज को बढ़ाया जाएगा। कचरा इकट्ठा करने के काम को और बेहतर करने के लिए 7 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है।