सूर्य ग्रहण से बदल जाएगी गोवर्धन पूजा की तारीख! जानें तिथि, ग्रहण का समय और सूतक

0
186

Govardhan Puja: साल 2022 का आखिरी सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर को लगने जा रहा है. इस सूर्य ग्रहण से ठीक एक दिन पहले यानी 24 अक्टूबर को दिवाली का त्योहार मनाया जाएगा. दिवाली पर घर में मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा की जाती है. धार्मिक मान्यता है कि दिपावली के दिन मां लक्ष्मी पृथ्वी लोक पर भ्रमण करती हैं. इसलिए लोग मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए कई प्रकार के उपाय करते हैं. इसके अलावा मां लक्ष्मी के आगमन के लिए दिवालाी से पहले घर की साफ-सफाई और रंग-रोगन किया जाता है. कहा जाता है कि मां लक्षमी का वास स्वच्छ स्थान पर होता है. इस बार दिवाली और गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja Date 2022) के साथ सूर्य ग्रहण (Surya Grahan in India) का संयोग बन रहा है. ऐसे में जानते हैं कि क्या सूर्य ग्रहण को लेकर गोवर्धन पूजा की तिथि में बदलाव होगा. आइए जानते हैं जानते हैं सूर्य ग्रहण के बारे में संपूर्ण जानकारी.

सूर्य ग्रहण 2022 तिथि और समय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर, मंगलवार को लगेगा. यह सूर्य ग्रहण आंशिक होगा. बता दें कि यह सूर्य ग्रहण दोपहर 2.29 बजे से शुरू होगा. जबकि इस ग्रहण का मोक्ष काल शाम 6 बजकर 20 मिनट के बाद होगा. भारत में यह सूर्य ग्रहण शाम 4 बजकर 29 मिनट से शुरू होगा और शाम 5 बजकर 42 मिनट पर समाप्त होगा.

कहां-कहां देखा जा सकेगा सूर्य ग्रहण 

2022 का आखिरी सूर्य ग्रहण एशिया का दक्षिण और पश्चिम भाग, अटलांटिक, यूरोप, अफ्रीका महाद्वीप का उत्तरी-पूर्वी भाग में देखा जा सकता है. इसके अलावा भारत में यह सूर्य ग्रहण जम्मू, श्रीनगर, दिल्ली, गुजरात, पंजाब, लेह, उत्तराखंड, राजस्थान इत्यादि जगहों पर देखा जा सकता है.

सूर्य ग्रहण 2022 सूतक काल

सूर्य ग्रहण का सूतक ग्रहण शुरू होने से 12 घंटे पहले शुरू हो जाता है. भारत में यह सूर्य ग्रहण शाम 4 बजे से दिखाई देगा. ऐसे में इसका सूतक काल सुबह 4 बजे से मान्य होगा. धार्मिक मान्यता के अनुसार, सूतक काल के दौरान कोई भी शुभ कार्य और पूजा-पाठ नहीं किया जाता है. ऐसे में इस साल गोवर्धन पूजा 25 अक्टूबर को ना होकर 26 अक्टूबर को होगी.