छत्तीसगढ़ में महिला पत्रकार की संदिग्ध मौत, कमरे में मिली लाश, कुछ दिन पहले ही नए घर में हुई थी शिफ्ट

0
187

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ में जांजगीर-चांपा जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के सीता राम नगर में एक महिला पत्रकार का शव घर से मिला है. महिला पत्रकार इशिका शर्मा का शव उनके ही घर के अंदर संदिग्ध हालत में मिला .

सूचना मिलते ही पुलिस विभाग की टीम भी दल बल के साथ मौके पर पहुंची और जांच की. कोतवाली पुलिस ने डाग स्क्वायड और बिलासपुर जिले की एफएसएल (FSL) के टीम की मदद ली गई है.

दरअसल, इशिका शर्मा के पिता गोपाल शर्मा कोरबा जिले के रहने वाले हैं और वह भी पेशे से पत्रकार हैं. जांजगीर के सीताराम नगर में गोपाल शर्मा ने नया घर खरीदा था और 2 फरवरी को नए घर में पूजा पाठ कराकर रहने लगे थे.

13 फरवरी को गोपाल शर्मा अपनी पत्नी के साथ कोरबा जिले में अपने घर गए थे. घर पर उनकी पुत्री इशिका शर्मा और उनका छोटा भाई आर्यन शर्मा थे. रात 11:30 तक इशिका शर्मा से गोपाल शर्मा की बातचीत हुई. उन्होंने ज्यादा रात होने की वजह से सुबह जांजगीर आने की बात कही और फोन रख दिया था.

सुबह जब बार-बार फोन करने के बाद भी जब बेटी ने फोन नहीं उठाया तो गोपाल शर्मा ने पड़ोसी को घर जाकर देखने के लिए बोला. पड़ोसी ने काफी देर तक दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई हलचल नहीं हुई. उन्होंने गोपाल को फोन कर बताया कि अंदर से कोई जवाब नहीं दे रहा है. बाद में गोपाल शर्मा अपनी पत्नी सहित कोरबा से जांजगीर पहुंचे और दरवाजा खोला गया तो, अंदर का नजारा देख उनके होश उड़ गए.

एक कमरे में उनकी पुत्री का शव संदिग्ध हालत में बिस्तर पर पड़ा था, तो वहीं उनका बेटा दूसरे कमरे में था. दरवाजा बाहर से किसी ने बंद कर दिया था. बिलासपुर जिले की एफएसएल की टीम और डॉग स्क्वायड की टीम पहुंचने के बाद देर रात तक एफएसएल की टीम की जांच चलती रही. जांच पूरी होने के बाद शव को जिला अस्पताल के मर्चुरी रूम में रखा गया है.

घर से इशिका के मोबाइल और स्कूटी भी गायब है. फिलहाल पुलिस ने मामला पंजीबद्ध कर लिया है, और इस हाई प्रोफाइल मामले में हर बिंदुओं पर जांच कर रही है. मंगलवार सुबह डॉक्टरों की टीम की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम होगा.