RO NO.....12737/20

कौन से हैं दुनिया के सबसे महंगे शहर, क्या कहती है नई सूची?

0
132

ईसीए इंटरनेशनल की कॉस्ट ऑफ लिविंग की 2023 की सूची में पिछले साल की तुलना में बहुत बदलाव देखने को मिले हैं. पहला स्थान एशिया से अमेरिका में चला गया है. सिंगापुर पिछले साल 13 से शीर्ष पांच में आ गया है. एशियाई देशों के शहर कुछ पिछड़े हैं तो पश्चिमी देशों में महंगाई बढ़ती दिखी है.

RO NO.....12737/20

दुनिया के महंगे शहरों की सूची में शामिल होने के बहुत से अलग अलग कारण होते हैं. और सूची अक्सर बदलती भी रहती है. ऐसा जरूरी नहीं है कि महंगा शहर आपको पसंद ही आए या महंगे शहर में वो सारी सुविधाएं हो जो आप चाहते हों. यही वजह है कि जब ईसीए इंटरनेशनल की कॉस्ट ऑफ लिविंग की 2023 की सूची जारी हुई तो इसमें बदलाव मिलने पर हैरानी तो नहीं हुई लेकिन लोग यह जरूर जानना चाहते हैं नई सूची कैसी है और उसमें क्या क्या बदलाव हैं. हां पिछले साल शीर्ष पर रहा हॉन्गकॉन्ग इस बार अपना स्थान गंवा चुका है.

इस साल शीर्ष का स्थान न्यूयॉर्क शहर ने हासिल किया है उसने इस स्थान से हॉन्ग कॉन्ग को हटाया है. इसी प्रमुख वजह यहां के मकान और इसलिए उनका किराया तो महंगा है ही यहां की चीजें और सेवाएं भी बहुत महंगी होती जा रही हैं. फिर भी यहां के शानदार रेस्तरां, थिएटर आदि बहुत आकर्षक हैं और लोग का शहर के प्रति आकर्षण कम नहीं हो रहा है.

हॉन्गकॉन्ग दुनिया के महंगे शहरों की सूची में भले ही शीर्ष पर ना हो, लेकिन यह अब भी दूसरे स्थान पर है. यहां कम जमीन में ज्यादा मांग इसे दिन ब दिन महंगा बना देती है. यहां की उत्कृष्ट सेवाएं और साथ ही वस्तएं महंगी हैं उन पर कर भी अधिक है. इतना ही नहीं हॉन्ग कॉन्ग का श्रम भी उसे महंगा बनाने में योगदान देते है.

यूरोप में स्विट्जरलैंड का जिनेवा शहर दुनिया के मंहग शहरों की सूची में तीसरे स्थान पर है. यहां वस्तुओं के आयात पर बहुत प्रतिबंध हैं जिससे यहां महंगाई ज्यादा हो जाती है. खूबसूरती और यहां मिलने वाला सुकून लोगों को हमेशा ही आकर्षित करता रहता है. यह घर और यातायात भी बहुत महंगा है. बढ़ती मांग भी इस शहर को और महंगा करती जा रही है.

महंगे शहरों की सूची में जिनेवा के साथ लंदन ने भी अपना पिछले साल का दर्जा बरकरार रखा है. लदंन बहुत समय से महंगे शहरों की सूची में शामिल रहे हैं. पिछले कुछ सालों में यहां किराए में बहुत इजाफा देखने को मिला है. यहां रेस्तरां, सिनेमा, थिएटर, स्थानीय यातायात तुलनात्मक तौर से बहुत महंगे हैं. इसके वित्तीय हब होने की वजह से दुनिया भर के अमीरों के आकर्षण का केंद्र रहा है जिससे यह हमेशा मंहगा ही रहा है.

सिंगापुर दुनिया के सबसे मंहगे शहरों की सूची में सबसे तेजी से चढ़ने वाले शहरों में से है. पिछले साल यह 13वें स्थान पर था और इस साल ये पांचवे स्थान पर आ गया है. इसकी सबसे खास बात यहां की लाइफ स्टाइल है जो लोगों के लिए बहुत महंगी होती जा रही है. यहां का यातायात सरकार के करों की वजह से बहुत महंगा है. खाने पीने की वस्तुएं और उनमें भी कपड़े, शराब, तम्बाकू आदि बहुत ही महंगे हैं.

स्विट्जरलैंड के जिनेवा के बाद उसी का ज्यूरिख शहर भी दुनिया के सबसे महंगे शहरो में पीछे नहीं है और इस साल यह छठे स्थान पर है. यहां जीवन की लागत यानि कॉस्टऑफ लिविंग बहुत ज्यादा है. लोगों को पहले ही बहुत ज्यादा पैसा मिलता है. और यहां यातायात, वस्तुएं आदि बहुत महंगे है जो आसपास के देशों की तुलना में इसे बहुत महंगा शहर बनाए हुए हैं.

अमेरिका का सैन फ्रांसिस्को इस सूची में सातवें दर्जे पर है. यहां रियल स्टेट की कीमतें आसमान पर रहती हैं और एक व्यापरिक केंद्र होने की वजह से यहां लोगों को यहां रहना अच्छा लगना जैसी कई वजह हैं जिससे यहां जीवनयापन बहुत महंगा है और दुनिया के शीर्ष महंगे दस शहरों में इसका नाम आ गया है. यहां के खर्चे और जीवनशैली कुछ इस तरह की है कि यहां ज्यादा वेतन भी कम पड़ता है.