चक्रवात ‘बिपरजॉय’ बनेगा और भी खतरनाक, अगले 36 घंटे अहम; जानें किन- किन राज्यों में दिखेगा असर

0
151

एक बार फिर देश के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान ‘बिपरजॉय’ का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार अगले 36 घंटों में बिपरजॉय और भी भयान रूप ले सकता है। इसके बाद यह गंभीर चक्रवाती तूफान बन सकता है। इस तूफान का असर गोवा, कर्नाटक, उत्तरी केरल के तटीय इलाकों में देखने को मिल सकता है। इस दौरान यहां तूफान व तेज बारिश होने की उम्मीद है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को कहा कि बिपरजॉय अगले 36 घंटे में खतरनाक रूप ले सकता है। साथ ही अगले दो दिनों में उत्तर से उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ेगा।

उत्तर पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने की संभावना
आईएमडी के अनुसार, आठ जून को खतरनाक चक्रवाती तूफान रात 11:30 बजे गोवा से 840 किलोमीटर पश्चिम दक्षिण में और मुंबई से 870 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में स्थित पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर स्थित था। मौसम विभाग ने ट्वीट कर जानकारी दी कि बिपरजॉय अगले 36 घंटे में खतरनाक रूप ले सकता है। अगले दो दिनों में यहां से इसके उत्तर पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने की संभावना है। यह जैसे-जैसे आगे बढ़ेगा वैसे-वैसे इसका रूप विकराल होने की संभावना है।

ये राज्य घेरे में

मौसम विभाग का कहना है कि अगले तीन दो दिनों के दौरान यह तूफान उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ जाएगा। इस तूफान की चपेट में उत्तर केरल, कर्नाटक, गोवा के तटीय इलाके आ सकते हैं। स्काईमेट वेदर के मुताबिक, चक्रवाती तूफान को तटीय इलाकों तक पहुंचने के लिए काफी लंबी यात्रा करनी है।

मौसम विभाग की चेतावनी

वहीं, एक रिपोर्ट की माने तो इस चक्रवात के कारण सौराष्ट्र और गुजरात के कुछ इलाकों में 9 से 11 जून के बीच हल्की बारिश होने की संभावना है। वहीं इस तूफान को लेकर केरल, कर्नाटक और गोवा की सरकार अलर्ट मोड में हैं। किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए सरकार ने कमर कस ली है। सरकार की ओर से मछुआरों को समुद्र में न जाने की चेतावनी भी दी गई है।