बाघ की खाल के खरीदार तलाश रहे 4 तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
88

कोण्डागांव जिले के बयानार थाना पुलिस ने साइबर सेल पुलिस के साथ नारायणपुर जिला के चार युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, नारायणपुर क्षेत्र के चार युवक बयानार के टेमरू गांव में बाघ खाल तस्करी करते गिरफ्तार किए गए हैं। इनके पास से खाल समेत बाघ के दांत भी बरामद किए गए हैं। चारों आरोपियों को वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9, 39 (2) और 51 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

मामले का खुलासा करते हुए कोण्डागांव पुलिस अधीक्षक व्हाय अक्षय कुमार ने जानकारी दिया कि 20 जुलाई को साइबर सेल को सूचना मिली कि बयानार क्षेत्र अंतर्गत टेमरू गांव के जंगल के पास चार व्यक्ति कारूराम गोटा (28), सोनू राम कुमेटी (41), देउराम उसेण्डी (40) और लखमु ध्रुव (35) अपने मोटर साइकिल से बाघ की खाल का तस्करी कर रहे हैं। इस सूचना पर बयानार थाना पुलिस और कोण्डागांव जिले के साइबर सेल की पुलिस टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए चारों युवकों को तत्काल टेमरू गांव के पास से बाघ खाल के साथ गिरफ्तार कर लिया है।

प्रारंभिक पूछताछ में चारों युवकों ने बताया कि, वे सभी ओरछा थाना क्षेत्र अंतर्गत नारायणपुर जिला के निवासी है। उनके क्षेत्र से लगभग 6 माह पूर्व इस बाघ का शिकार करके खाल की तस्करी के लिए कोण्डागांव की ओर जा रहे थे। नारायणपुर क्षेत्र में बाघ खाल का खरीदार नहीं मिलने के कारण वे कोण्डागांव की ओर खरीदार तलाश रहे थे। पुलिस के अनुसार बाघ का खाल लगभग 8 फुट से अधिक बड़ा है, जिसकी कीमत ब्लैक मार्केट में 20 से 50 लाख रुपए से अधिक आंकी जा रही है।