RO NO.....12737/20

पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव नहीं रहे, PM मोदी बोले- ‘हमेशा संजोकर रखूंगा आपकी यादें’

0
151

नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री और जनता दल यूनाइटेड (JDU) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव (Sharad Yadav Passes Away) का 75 साल की उम्र में निधन हो गया है. शरद यादव की बेटी शुभासिनी यादव ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) समेत तमाम नेताओं ने शरद यादव को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

RO NO.....12737/20

पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि
प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ‘शरद यादव जी के निधन से बहुत दुख हुआ. अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने खुद को सांसद और मंत्री के रूप में प्रतिष्ठित किया. वे डॉ. लोहिया के आदर्शों से काफी प्रभावित थे. मैं हमेशा हमारी बातचीत को संजो कर रखूंगा. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदनाएं. ओम शांति.’

संसद में वंचितों की एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय आवाज थे शरद यादव : राष्ट्रपति
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शरद यादव के निधन पर शोक जताया. उन्होंने कहा- पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री शरद यादव के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए लड़ने वाले सत्तर के दशक के छात्र नेता शरद जी संसद में वंचितों की एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय आवाज थे. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं.

उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने शरद यादव को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्होंने लोकप्रिय नेता और कुशल प्रशासक बताया. उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने ट्वीट किया, ”पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं अनुभवी सांसद शरद यादव जी के असामयिक निधन से दु:ख हुआ. एक लोकप्रिय नेता और कुशल प्रशासक, जिन्होंने सार्वजनिक जीवन में उच्च मानदंड स्थापित किए. उनके परिवार के सदस्यों और शुभचिंतकों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है. ओम शांति!”

लालू ने वीडियो मैसेज से दी श्रद्धांजलि
लालू प्रसाद यादव ने सिंगापुर के अस्पताल से वीडियो मैसेज के जरिए शरद यादव को श्रद्धांजलि दी है. लालू ने वीडियो में कहा, ‘बड़े भाई शरद यादव की मृत्यु की खबर सुनकर मैं काफी विचलित हुआ हूं. काफी दुखी हूं और काफी आघात लगा है. शरद यादव, मुलायम सिंह यादव, नीतीश कुमार, मैं बाकी तमाम नेताओं के साथ जननायक डॉ. राम मनोहर लोहिया और कर्पूरी ठाकुर के सानिध्य में राजनीति करते आए हैं. आज एकाएक उनके जाने से मुझे बहुत आघात लगा. वे महान समाजवादी नेत थे. स्पष्टवादी थे. उनसे मैं कभी कभी लड़ भी लेता था. मतभेद होता, लेकिन मनभेद नहीं. वो अब हमारे बीच नहीं हैं. भगवान उनकी आत्मा को चीर शांति दे. शोकाकुल परिजनों के लिए मेरी संवेदनाएं.’

फोर्टिस अस्पताल ने जारी किया बयान
फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट ने बयान जारी कर कहा कि शरद यादव को अचेत और अनुत्तरदायी अवस्था में फोर्टिस में आपात स्थिति में लाया गया था. जांच करने पर उनकी कोई पल्स या रिकॉर्डेबल ब्लड प्रेशर नहीं था. एसीएलएस प्रोटोकॉल के तहत उनका सीपीआर किया गया. सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद, उन्हें बचाया नहीं किया जा सका और रात 10 बजकर 19 मिनट पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

2016 में जेडीयू से इस्तीफा देकर बनाई थी नई पार्टी
शरद यादव ने जेडीयू से साल 2016 में इस्तीफा देने के बाद अपनी पार्टी का गठन किया था और उन्होंने नई पार्टी बनाई. इसके बाद इस पार्टी का उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल में विलय कर दिया. उनकी बेटी सुभाषिनी कांग्रेस में हैं.