छत्तीसगढ़ : गणतंत्र दिवस पर कोरोना का साया, नहीं होंगे सांस्कृतिक आयोजन, प्रदेश में पॉजिटिविटी दर शून्य

0
213

छत्तीसगढ़ में गणतंत्र दिवस पर इस बार भी कोरोना का साया मंडरा रहा है। जिसके कारण जिला प्रशासन ने समारोह के दौरान होने वाले बड़े आयोजनों पर रोक लगा दी है। 26 जनवरी को होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों को कोरोना संक्रमण के चलते निरस्त करने के निर्देश जिला कलेक्टर ने जारी किए हैं। जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा स्कूलों को इस सबंध में पत्र जारी किया गया है। यह पत्र जारी होने के बाद बच्चों में मायूसी देखी जा रही है।

जिले में नहीं है एक भी एक्टीव केस
कलेक्टर द्वारा जारी किए गए निर्देश के बाद लोग हैरान हैं कि जब राजनांदगांव जिले में कोरोना का एक भी एक्टिव केस नहीं है, फिर भी जिला प्रशासन पत्र द्वारा जारी किया गया हैं। जबकि गणतंत्र दिवस के अलावा बाकी दूसरे समारोह बिना किसी प्रतिबंध के संपन्न हो रहे हैं। ऐसे में केवल राष्ट्रीय पर्व के आयोजन पर ब्रेक लगाने से लोगों में नाराजगी है। इसी तरह के आदेश प्रदेश के सभी जिलों में जारी किये जा रहे हैं।

स्कूलों में नहीं होंगे सांस्कृतिक आयोजन
राजनांदगांव क्षेत्र के मानपुर मोहला, खैरागढ तीनों ही जिले के निजी व शासकीय स्कूलों में गणतंत्र दिवस पर होने वाले सांस्कृतिक आयोजनों की तैयारी शुरू कर दी गई थी। वहीं 2 साल बाद होने वाले आयोजन को लेकर स्कूल व बच्चों में भी उत्साह था। क्योंकि बीते दो वर्षों तक कोरोना संक्रमण के चलते बड़े आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया गया था। लेकिन इस बार प्रतिबंध के आदेश के बाद बच्चों में मायूसी छा गई है। राजनांदगांव में गणतंत्र दिवस का मुख्य आयोजन म्युनिसिपल स्कूल मैदान में आयोजित होगा। ध्वजारोहण और मार्च पास्ट की प्रक्रिया पूरी होगी इसके साथ ही जिले में उत्कृष्ट कार्य करने वाले बच्चों एवमं समाजिक संस्थाओं को सम्मानित किया जाएगा।

प्रदेश में पॉजिटिविटी दर शून्य
वर्तमान में छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के BF.7 वेरियंट का सामना करने के लिए राज्य सरकार ने तैयारीयों का मॉक टेस्ट किया। प्रदेश कें सभी जिला अस्पतालों मेडिकल कॉलेजों एवं पूर्व में बनाये गए कोविड केयर सेंटरों में ऑक्सीजन और अन्य उपलब्धता की जांच की गई। प्रदेश में पॉजिटिव दर फिलहाल शून्य प्रतिशत पर है। इसके अलावा राज्य से जिनोम सीक्वेंसिंग के 12 सैम्पल उड़ीसा भेजे गए थे। जिनमें से 2 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिनका इलाज किया गया। जल्द ही एम्स रायपुर में जीनोम टेस्ट की सुविधा उपलब्ध होगी। जिससे जांच की रिपोर्ट मिलने में आसानी होगी।