Narendra Modi

12784/20 RO NO

बुलेट की रफ्तार पर दौड़ती नजर आई देश की पहली रैपिड रेल, 160KM स्पीड का बनाया रिकॉर्ड

0
183

देश की पहली रैपिड रेल की शुरुआत मार्च से होने जा रही है. बुधवार को रैपिड रेल साहिबाबाद से गाजियाबाद के दुहाई के 17 किलोमीटर के ट्रैक पर 160km प्रति घंटे से रफ्तार भरती नजर आई. इससे पहले ट्रेन का दुहाई स्टेशन से गुलधर स्टेशन तक ट्रायल किया गया था.

बता दें कि जून 2025 से रैपिड रेल के ज़रिए दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ तक का सफर 50 मिनट में पूरा किया जा सकेगा. इस रूट को तैयार कर रहे हैं NCRTC यानी नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट सिस्टम ने ट्रायल की प्रक्रिया में काफी तेजी से काम करना शुरू कर दिया है.

रैपिड रेल का लुक बुलेट ट्रेन से कुछ कुछ मिलता है. इसकी रफ्तार 180 किलोमीटर है लेकिन 160 किलोमीटर प्रीति घण्टे की स्पीड से लोग रैपिड रेल की यात्रा कर सकेंगे. रैपिड रेल को बुलेट ट्रेन की गति देने का प्रयास भी किया गया है, अभी चल रहे ट्रायल में इसकी रफ्तार 160km प्रति घंटे तक पहुंच गई है, शुरुआती दौर में 5 km प्रति घंटे से इसकी शुरुआत की गई थी और अब ये 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ रही है. इसकी सीट भी काफी आरामदायक बनाई गई है.

दिल्ली -मेरठ कॉरिडोर की कुल लंबाई 82 किमी है, जिसमें से 14 किमी का हिस्सा दिल्ली में है जबकि 68 किमी का हिस्सा उत्तर प्रदेश में है. पूरी तरह बनने के बाद दिल्ली से मेरठ की यात्रा करने में महज 50 मिनट का समय लगेगा.

मार्च से पटरियों पर रफ्तार भरती नज़र आएगी रैपिड रेल

मार्च से लोग साहिबाबाद स्टेशन से गाजियाबाद के दुहाई स्टेशन तक के 17 किलोमीटर पर रैपिड रेल का लुत्फ ले सकेंगे. साहिबाबाद से गाजियाबाद के दुहाई तक 17 किलोमीटर तक प्रायॉरिटी सेक्शन की शुरुआत इस साल मार्च में होने जा रही है. इसमें 5 स्टेशन हैं- साहिबाबाद,गाजियाबाद,गुलधर,दुहाई और दुहाई डिपो.

रैपिड ट्रेन से दिल्ली-मेरठ सफर को रफ्तार मिलेगी और ये सफर आरामदायक भी होगा और दिल्ली का विस्तार भी होगा. दिल्ली एनसीआर में रहने वाले लोगो को रैपिड रेल का बेसब्री से इंतजार है जिससे उनका सफर बेहद आरामदायक और बेहतर हो जाएगा.