रायपुर में धर्म सभा में गरजे अवधेशानंद गिरि, कहा- ‘जिस दिन हिंदू कट्टर हो गया…’

0
168

रायपुर : छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक बड़ी धर्म सभा का आयोजन किया गया है. इसमें शामिल होने के लिए कई राज्यों के बड़े बड़े साधु रायपुर पहुंचे हैं. इस धर्म सभा में भारत को संवैधानिक रूप से हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग की गई है. इसके अलावा साधु संतो ने छत्तीसगढ़ को धर्मांतरण मुक्त करने के लिए भी संकल्प किया है. वहीं इस सभा में अवधेशानंद गिरि ने कट्टर हिन्दू की परिभाषा बताई है.

रायपुर में साधु संतों का धर्म सभा

दरअसल राजधानी रायपुर में सैकड़ों की संख्या में साधु संत भारत को संवैधानिक रूप से हिंदू राष्ट्र की मांग में लिए जुटे हैं. इस मौके पर छत्तीसगढ़ के कई दिग्गज नेता भी साधु संतों को सुनने के लिए पहुंचे थे. इसमें बृजमोहन अग्रवाल, सांसद सुनील सोनी, राजेश मूणत जैसे नेता धर्म सभा में शामिल हुए थे. वहीं राज्य रामनामी वर्ग भी इस धर्म सभा में शामिल हुए थे. वो भी अपने पारंपरिक वेशभूषा में धर्म सभा में शामिल हुए थे.

संवैधानिक रूप से भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग

धर्म सभा को संबोधित करते हुए जूना अखाड़े के प्रमुख अवधेशानंद गिरि ने हिंदू राष्ट्र के संकल्प को लेकर कहा कि जापान के लोग जापानी, फ्रांस के फ्रेंच,यूरोप के यूरोपियन और अमेरिका के अमेरिकन तो फिर हिंदुस्तान में रहने वाला व्यक्ति हिंदू क्यों नहीं? लाखों लाख साल से हम हिंदू है और हिंदू रहेंगे. पूरे विश्व को हम परिवार मानते हैं लेकिन पूरा पश्चिमी देश पूरे विश्व को बाजार मानता है. हिंदू किसी को दुख नहीं देना जानता, हिंदू की यही मान्यता है.

धर्म सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ

अवधेशानंद गिरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि जी 20 का एक धरती एक परिवार का नारा है. संसार भर के अर्थशास्त्री ये कह रहे कि दुनिया में भयानक मंदी आ रही है और संसार के मंदी को कोई रोक सकता है वो भारत देश है. अवधेशानंद गिरी ने आगे कहा कि अमेरिका में कुछ लोग कह रहे थे. आज भी आप जगत गुरु का सपना पाल रहे हैं. मैंने कहा हम जगत गुरु है. अमेरिका की धरती में पीएम नरेंद्र मोदी ने योग को पहुंचाया. भारत का झंडा तो लहरा रहा है.

जिस दिन हिंदू कट्टर हो जाएंगे तो…

अवधेशानंद गिरि कट्टर हिन्दू को लेकर कहा कि जिस दिन हिंदू कट्टर हो जाए तो पूरी धरती पर शांति और समाधान के मार्ग खुल जाएंगे. इस धरती पर हिंसा नहीं रहेगी. कट्टर हिंदू को परिभाषित करते हुए उन्होंने आगे कहा कि वह शिव की तर्ज धर्म की रक्षा के लिए अपने अंगों को काटने के लिए तैयार हो जाएगा. धर्म के लिए अपनी पत्नी बच्चे को बेचने के लिए तैयार हो जाएगा.हिंदू अतिथि को देवता मानते है. ऐसे में इस धरती पर उन्माद नही रहेगा. राम राज्य आएगा.