Narendra Modi

12784/20 RO NO

‘मेरी मौत के जिम्मेदार तीनों पुलिसकर्मी हैं’, सुसाइड नोट लिख फंदे से झूल गया UPSC की तैयारी कर रहा छात्र

0
130

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में सिविल सर्विस (UPSC) की तैयारी कर रहे छात्र ने सुसाइड कर लिया. छात्र ने मरने से पहले सुसाइड नोट भी लिखा है जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार तीन पुलिसकर्मियों को ठहराया है. मामला रहीमाबाद थानाक्षेत्र का है.

मामला संज्ञान में आते ही डीजीपी ने दो सब इंस्पेक्टर सहित एक कांस्टेबल को लाइन हाजिर करने के आदेश दिए. साथ ही इस मामले की गंभीरता से जांच शुरू कर दी गई है.

जानकारी के मुताबिक, रहीमाबाद थाना क्षेत्र का रहने वाला 22 वर्षीय आशीष कुमार लखनऊ में रहकर सिविल सर्विस की कोचिंग ले रहा था. छात्र की मां सुशीला देवी ने बताया कि उसके पति महादेव का गांव में ही रहने वाले नंदू विश्वकर्मा के साथ किसी बात को लेकर विवाद था.

जिसके बाद साल 2018 में उन्होंने नंदू और उसके नौकर के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था. पुलिस वालों ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया. बल्कि, नंदू के कहने पर उल्टा महादेव के खिलाफ ही मामला दर्ज कर लिया. फिर मामले को रफा-दफा करने की एवज में पांच हजार रुपये की मांग करने लगे.

लेकिन महादेव ने पैसे नहीं दिए. केस चलता रहा. फिर साल 2023 में नंदू विश्वकर्मा ने सीमेंट चोरी के इल्जाम लगाते हुए आशीष और मयंक के खिलाफ फर्जी मामला दर्ज करवा दिया. इसी को लेकर आशीष परेशान था.

मां ने बताया कि उनका बेटा आशीष पढ़ने में काफी होशियार था. पुलिस उसे बार-बार परेशान कर रही थी. इस वजह से वह पढ़ाई भी नहीं कर पा रहा था.

 

उसे इस बात से काफी अपमानित महसूस हो रहा था. जिसके चलते रविवार शाम को उसने खुद को कमरे में बंद कर लिया. काफी देर तक जब बेटे ने दरवाजा नहीं खोला तो हमें शक हुआ. हमने जैसे-तैसे दरवाजा तोड़ा तो कमरे में आशीष की लाश फंदे से लटकी मिली.

मृतक आशीष की मां ने रहीमाबाद थाने में सब इंस्पेक्टर राजमणि पाल और ललन पाल सहित कांस्टेबल मोहित शर्मा के खिलाफ मामला दर्ज करवाया. उन्होंने नंदू विश्वकर्मा और श्यामलाल के खिलाफ भी मामला दर्ज करवाया. सुशीला देवी ने कहा कि यह सब इन दोनों के कारण ही हुआ है. क्योंकि इन लोगों ने झूठा केस दर्ज करवाया था. जिस कारण पुलिस हमें परेशान कर रही थी.

वहीं, पुलिस को जो सुसाइड नोट मिला है उसमें आशीष ने लिखा है ‘मेरी मौत के जिम्मेदार तीनों पुलिसकर्मी, नंदू विश्वकर्मा और श्यामलाल हैं. उन्होंने झूठा केस दर्ज करवाया और मुझे परेशान किया. इसलिए मैं सुसाइड करने जा रहा हूं.’