CG में अजीबो गरीब कांड, पत्नी पर शक करता था पति और दूसरे का समझकर अपने बच्चे की कर दी हत्या

0
140

राजनांदगांव। छत्‍तीसगढ़ के मोहला पुलिस ने कुम्हली पंचायत के आश्रित गांव बोगाटोला की लापता छह माह की बच्ची की हत्या का राजफाश कर लिया है। पत्नी की अवैध संबंध की शंका को लेकर पिता ने ही अपनी छह महीने की बच्ची की हत्या की थी। आरोपित माता-पिता को धारा 302, 201, 34 भादवि के तहत आरोपित पाये जाने से आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा दिया गया है।

दरअसल, आत्माराम उम्र 38 साल साकिन बोगाटोला थाना मोहला ने थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसकी छह महीने बेटी 16 नंवबर की सुबह उसके घर ग्राम बोगाटोला से लापता हो गयी है। इस रिपोर्ट पर धारा 363 भादवि का अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक मोहला-मानपुर अम्बागढ़ चौकी अक्षय कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मानपुर पुपलेश कुमार, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी अर्जुन कुरें के मार्ग दर्शन में निरीक्षक कपिलदेव चंद्रा के कुशल नेतृत्व में टीम बनाकर अपहृत बच्ची व अज्ञात आरोपित का लगातार तलाश किया जा रहा था। इसी दौरान कि 24 नंवबर को बरामदगी ग्राम बोगाटोला (कुम्हली) स्थित जोगी डबरी से उस बच्ची की शव एक काले कपड़े में बंधा हुआ मिला। जिसकी पहचान की गई तो गुमशुदा बच्ची के रूप में हुई।

उक्त घटना की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों को परिस्थित से अवगत कर मार्ग निर्देशन में थाना व साइबर स्टाफ के अथक प्रयासों से घटना की गंभीरता को देखते हुए परिवार के सदस्यों के द्वारा घटना को अंजाम देना प्रतीत हुआ। जिसके बाद आरोपित माता-पिता से अलग-अलग कड़ाई से पूछने पर आरोपित पिता आत्माराम कोठारी ने हत्या करने की बात स्वीकारी।

उसने बताया कि अपनी पत्नी रीना कोठारी के साथ मिलकर घर से नया कपड़ा निकालकर बच्ची के शव को कपड़े में बांधकर घटना के बारे में किसी को मालूम न चले सोचकर आरोपित आत्माराम ने अंधेरे के समय ही बच्ची के शव को ले जाकर गांव के ऊपर पारा जोगी डबरी में फेंककर साक्ष्य छिपाने के नियत से ठिकाने लगा दिया था। आरोपितों का वैवाहिक जीवन बर्बाद न हो इसलिए बच्ची की लापता की झूठी खबर फैला दिये थे।