RO NO.....12737/20

आने वाले टाइम में हम और ज्यादा फूंकेंगे इंटरनेट डेटा, दुनिया में रहेंगे टॉप पर, हर यूजर खपाएगा कितने GB? जानिए

0
165

दिल्ली. भारत में अभी ही डेटा की खपत ज्यादा होती है. अब एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि 2028 तक भारतीय हर महीने हर यूजर करीब 62GB डेटा की खपत करेंगे, जो दुनिया में सबसे ज्यादा होगा. रिपोर्ट में बताया गया आंकड़ा अमेरिका, पश्चिमी यूरोप, दक्षिण कोरिया और चीन जैसे विकसित बाजारों से भी आगे होगा. भारत का ज्यादा ऑनलाइन रखने के लिए सस्ते डेटा रेट, 5G नेटवर्क की ग्रोथ और अफोर्डेबल स्मार्टफोन्स की उपलब्धता जैसे कारक काम करेंगे.

RO NO.....12737/20

एरिक्सन मोबिलिटी रिपोर्ट (जून 2023) में किए गए पूर्वानुमानों के अनुसार, 5G भारत में तेज ग्रोथ के लिए तैयार है, जो दुनिया में सबसे बड़ी ग्रोथ में से एक है. क्योंकि देश में ग्राहकों की संख्या 2022 के अंत तक 10 मिलियन से बढ़ कर 2028 के अंत तक 700 मिलियन तक हो जाएगी. इससे भारत दुनिया भर में 5G ग्राहकों के लिए दूसरा सबसे बड़ा सिंगल मार्केट बन जाएगा, जबकि चीन 1,310 मिलियन यूडर्स के साथ सबसे बड़ा मार्केट होगा.

किफायती कीमत में 5G मिलना जारी रहेगा5G में ग्रोथ ऐसे समय में भी होगी जब भारत में 4G ग्राहकों की संख्या में गिरावट शुरू हो जाएगी. क्योंकि मोबाइल नेटवर्क तेजी से नेक्स्ट जनरेशन के 5G में बदल जाएंगे. जबकि टैरिफ में बहुत ज्यादा बदलाव नहीं होंगे. अनुमान है कि 4G सब्सक्राइबर्स 2022 में 820 मिलियन से घटकर 2028 तक 500 मिलियन हो जाएंगे.

टेलीकॉम सेक्टर में ग्लोबल ट्रेंड्स को पकड़ने वाली बाइएनुअल एरिक्सन रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में कंज्यूमर डेटा कंजप्शन 2022 और 2028 के बीच 16% की CAGR से बढ़ेगी, जो 2022 के अंत में दर्ज 26GB (पर यूजर पर मंथ) से बढ़ जाएगी.

इस क्षेत्र में कुल मोबाइल सब्सक्रिप्शन 2028 में बढ़कर 1.2 बिलियन होने का अनुमान है. एरिक्सन का अनुमान है कि टोटल मोबाइल यूजर्स के प्रतिशत के रूप में भारत में स्मार्टफोन सब्सक्रिप्शन्स 2022 में 76% से बढ़कर 2028 में 93% हो जाएंगे.