आकाशीय बिजली का कहर! छत्तीसगढ़ में 3 मौत, 4 की हालत गंभीर

0
140

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में मौसम ने अचानक करवट ली. जिसके कारण बारिश के बीच आकाशीय बिजली का कहर देखने को मिला है. जिससे अलग-अलग तीन घटनाओं में एक बालिका समेत एक 18 वर्षीय युवती और एक महिला की मौत हो गई है. वहीं आकाशीय बिजली की चपेट में आने से चार लोग घायल भी है. जिनका इलाज वाड्रफनगर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जारी है, फ़िलहाल सभी घायलों की स्थिति सामान्य बताई जा रही है.

अलग-अलग जगहों पर बिजली गिरी
सरगुजा संभाग में पड़ रही भीषण गर्मी के बीच गुरुवार को बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर विकासखंड में झमाझम बारिश हुई. बारिश के बीच तीन अलग-अलग जगहों पर आकाशीय बिजली भी गिरी. इसकी चपेट में आकर महुआ डोरी बीनने गईं 5 महिलाएं , एक युवती व एक बालिका चपेट में आ गईं. हादसे में एक युवती, एक महिला व बालिका समेत 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 4 महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गईं. घायल महिलाओं को वाड्रफनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज जारी है.

रघुनाथनगर थाना क्षेत्र में भी हुई घटना
वहीं बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के रघुनाथनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम हरिगवां निवासी 5 महिलाएं व एक युवती गुरुवार की दोपहर तीन तीन के ग्रुप में अलग-अलग जगह महुआ डोरी बीन रही थीं. एक ग्रुप में 2 महिलाएं बबली व पानकुंवर तथा 18 वर्षीय अनिता गुप्ता जबकि दूसरे ग्रुप में 3 महिलाएं सुरभी, निर्मला व केशकुमारी पति जयप्रकाश 45 वर्ष थीं. दोपहर करीब 3 बजे अचानक मौसम ने करवट ली और बारिश शुरु हो गई. बारिश से बचने सभी अलग-अलग जगह पेड़ के नीचे खड़ी हो गईं. इसी दौरान वहां तेज गर्जना के साथ आकाशीय बिजली आ गिरी. इसकी चपेट में सभी आ गईं. हादसे में अनिता गुप्ता व केशकुमारी की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि अन्य 4 महिलाएं घायल हो गईं.

मातम पसर गया है
आकाशीय बिजली गिरने की घटना की जानकारी जब परिजनों को हुई तो वे दौडकर महुआ पेड़ के नीचे पहुंचे. यहां देखा कि सभी 6 महिलाएं जमीन पर बेहोशी की हालत में पड़ी थीं. इसके बाद परिजनों द्वारा सभी को संजीवनी 108 व अन्य माध्यम से वाड्रफनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया. जहां सभी का इलाज जारी है. फ़िलहाल सभी घायल महिलाओं की स्थिति सामान्य बताई जा रही है. यहां जांच पश्चात डॉक्टरों ने अनिता गुप्ता व केशकुमारी को मृत घोषित कर दिया, जबकि सुरभी, निर्मला, पानकुंवर व बबली का इलाज जारी है. आकाशीय बिजली की घटना में मृत युवती व महिला के परिजनों सहित गांव में मातम पसर गया है.

आकाशीय बिजली से बालिका की भी मौत
इधर वाड्रफनगर विकासखंड के ही बसंतपुर थाना क्षेत्र के ग्राम कुंदी निवासी 12 वर्षीय बालिका पिंकी खैरवार पिता रामखेलावन गुरुवार की दोपहर गांव में ही महुआ डोरी बीनने गई थी. इसी दौरान दोपहर करीब 3 से 4 बजे के बीच गरज-चमक के साथ बारिश शुरु हो गई. यह देख डोरी बीन रही पिंकी झोला लेकर भागने लगी.इसी बीच वहां आकाशीय बिजली आ गिरी, इसकी चपेट में आकर पिंकी की मौके पर ही मौत हो गई.