प्राइज मनी से लेकर रिजर्व डे तक, 10 सवालों से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बारे में जानें सबकुछ

0
135

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेला जाएगा। दोनों टीमें इंग्लैंड के ओवल में आमने-सामने होंगी। यह मैच सात जून से खेला जाएगा। भारतीय टीम दूसरी बार फाइनल मैच में खेलेगी। पिछली बार उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ 2021 में हार का सामना करना पड़ा। अब जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उतरेगी तो उसकी नजर आईसीसी ट्रॉफी जीतने पर होगी। फाइनल मुकाबले से पहले हम 10 सवालों के जरिए इस मैच के बारे में सबकुछ आपको बता रहे हैं:

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल क्या है? इसका क्या महत्व है?
यह टेस्ट का विश्व कप फाइनल है। 2002 से आईसीसी ने टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर रहने वाली टीम को सालाना एक ट्रॉफी दी है, लेकिन 2019 के बाद से उसने फॉर्मेट में बदलाव किया। आईसीसी ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में नौ टीमों की एक लीग शुरू की। इसका एक संस्करण दो साल का होता है। नौ में से अंक तालिका में शीर्ष दो टीमों के बीच फाइनल खेला जाएगा।

पिछली बार कौन जीता था?
विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का पहला चक्र 2019 से 2021 तक था। पहले चक्र के फाइनल में न्यूजीलैंड और भारत की टीमें आमने-सामने हुई थीं। तब न्यूजीलैंड ने जीत हासिल की थी।

भारत और ऑस्ट्रेलिाया की टीमें इस बार फाइनल में कैसे पहुंचीं?
ऑस्ट्रेलिया को 11 मैच में जीत और तीन मैच में हार का सामना करना पड़ा। उसके पांच मैच ड्रॉ रहे थे। ऑस्ट्रेलिया के खाते में 152 पॉइंट थे। वहीं, उसका पॉइंट प्रतिशत 66.67 रहा था। भारत उसके बाद दूसरे पायदान पर रहा था। उसे 10 मैच में जीत मिली थी। वहीं, पांच मुकाबलों में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा था। उसके तीन मैच ड्रॉ रहे थे। भारत के खाते में 127 अंक हैं। उसका अंक प्रतिशत 58.8 रहा।

फाइनल में किस गेंद का इस्तेमाल किया जाएगा?
फाइनल मैच में ड्यूक गेंद का इस्तेमाल किया जाएगा। इंग्लैंड में टेस्ट मैच के दौरान इसी गेंद का प्रयोग किया जाएगा। इंग्लैंड के अलावा आयरलैंड और वेस्टइंडीज में भी इसी गेंद का इस्तेमाल किया जाएगा।

अगर फाइनल ड्रॉ या टाई होगा तो कौन चैंपियन बनेगा?
अगर फाइनल मैच में ड्रॉ या टाई रहता है तो भारत और ऑस्ट्रेलिया को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा।

ओवल में फाइनल क्यों हो रहा? लॉर्ड्स में क्यों नहीं?
आयोजन को लेकर आईसीसी को एक साफ जगह की आवश्यकता थी। लॉर्ड्स के कुछ करार स्पॉस्सर के साथ हैं। इस कारण वह मैच के लिए उपलब्ध नहीं हो सका। 2019-21 सत्र का फाइनल भी इसी मैदान पर होना था, लेकिन नहीं हो पाया था। तब कोरोना महामारी के कारण साउथम्पटन में मुकाबला खेला गया था। लॉर्ड्स की अनुपलब्धता के बाद ओवल को मेजबानी मिली।

क्या जून में ओवल के मैदान पर ज्यादा टेस्ट होते हैं?
ओवल में पहली बार जून के महीने में कोई टेस्ट मैच होगा। ऐसे में पिच तेज होगी और घास नए होंगे।

फाइनल मैच में छठे दिन का इस्तेमाल कब होगा?
विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के पास एक रिजर्व डे है। इसका इस्तेमाल तभी होगा जब नियमित पांच दिन में से एक दिन का खेल खराब मौसम के कारण रद्द हो जाए। 2019-21 के फाइनल का भी पहला दिन बारिश के कारण धुल गया था। इस कारण मैच में स्वत: ही छठे दिन का विकल्प खुल गया था।

मौसम का पूर्वानुमान क्या है?
फाइनल के पहले तीन दिनों और पांचवें दिन लंदन में ज्यादातर धूप रहने की उम्मीद है। हालांकि, चौथे दिन दोपहर में बारिश की छिटपुट बौछारें पड़ने की उम्मीद है। अगर रिजर्व डे लागू हो जाता है तो भी मौसम साफ रहने की उम्मीद है।

क्या टीमें पूरी ताकत के साथ उतरेंगी?
दुर्भाग्य से, कोई भी टीम पूरी ताकत से होने का दावा नहीं कर सकती। ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड बाहर हो गए हैं। उनके स्थान पर माइकल नेसर को शामिल किया गया है। दूसरी ओर, भारत ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह, केएल राहुल और श्रेयस अय्यर जैसे प्रमुख खिलाड़ियों के बगैर उतरेगा।

फाइनल के लिए प्राइज मनी कितनी है?
इस बार चैंपियन बनने वाली टीम को लगभग 13.22 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। वहीं, हारने वाली टीम लगभग 6.61 करोड़ रुपये अपने साथ लेकर जाएगी। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पिछले सत्र में भी इनामी राशि यही थी। 2019-2021 चक्र में फाइनल में हारने पर भारतीय टीम को 6.61 करोड़ रुपये और चैंपियन न्यूजीलैंड को 13.21 करोड़ रुपये मिले थे।

फाइनल कितने बजे शुरू होगा और कहां देख पाएंगे?
फाइनल स्थानीय समयानुसार सुबह 11 बजे (भारतीय समयानुसार दोपहर 3:30 बजे) से शुरू होगा। इसका टेलीविजन पर सीधा प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर होगा। वहीं, मोबाइल फोन पर आप यह मैच डिज्नी+हॉटस्टार एप पर देख सकते हैं।