Narendra Modi

12784/20 RO NO

दिल्ली टेस्ट में राहुल नहीं, बल्कि इस खिलाड़ी पर गिरेगी गाज, अचानक बाहर कर देंगे कप्तान रोहित!

0
184

भारतीय टीम के खिलाड़ियों को लेकर बड़े-बड़े दिग्गज अपनी राय दे रहे हैं. पहला टेस्ट जीतने के बाद भी भारतीय टीम पर सवाल खड़े हो रहे हैं. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी का दूसरा मुकाबला 17 फरवरी से दिल्ली के अरुण जटेली स्टेडियम में होना है. ऐसे में भारतीय टीम से एक खिलाड़ी की छुट्टी तय मानी जा रही है. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहले टेस्ट में पारी और 132 रनों से हरा दिया, बावजूद इसके भी टीम पर सवाल खड़े हो रहे हैं. सवाल इसलिए खड़े हो रहे हैं, क्योंकि भारतीय टीम के सभी 11 खिलाडियों का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है. टीम में कुछ खिलाड़ियों का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा है, जिसके बाद अब कप्तान रोहित और कोच राहुल द्रविड़ टीम से इस खिलाड़ी की छुट्टी कर सकते हैं.

दिल्ली टेस्ट में राहुल नहीं, बल्कि इस खिलाड़ी पर गिरेगी गाज

भारतीय टीम के मिस्टर 360 डिग्री कहे जाने वाले बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव की दूसरे टेस्ट में छुट्टी तय मानी जा रही है. बता दें कि सूर्यकुमार यादव को पहले टेस्ट में डेब्यू करने का मौका मिला था, लेकिन वह कुछ खास नहीं कर पाए और मात्र 8 रन बनाकर आउट हो गए थे. जिसके बाद से यह कयास लगाए जा रहे हैं, उनको टीम से ड्रॉप किया जा सकता है. बात करें केएल राहुल की तो भारतीय टीम मैनेजमेंट ने उनपर काफी भरोसा जताया है. हालांकि, राहुल का हालिया फॉर्म कुछ खास नहीं है. नागपुर में खेले गए पहले टेस्ट में राहुल ने 71 गेंदों का सामना किया और मात्र 20 रन ही बना पाए, जिसके बाद उनपर काफी सवाल उठने लगे थे. राहुल का टेस्ट क्रिकेट में आखिरी शतक 2021 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ आया था. उसके बाद से राहुल कोई भी अच्छी पारी खेलने में नाकाम रहे हैं, लेकिन कप्तान रोहित और द्रविड़ की जोड़ी राहुल पर लगातार भरोसा जता रही है.

शुभमन को मिल सकता है टीम में मौका

भारतीय क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में डेब्यू करने के बाद से ही शुभमन गिल ने अपनी एक अलग ही छाप छोड़ दी है. क्रिकेट से जुड़ा कोई फैन ऐसा नहीं होगा जो इस नाम को नहीं जानता होगा. ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले गिल ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है. चाहे वनडे,टी20 हो या टेस्ट क्रिकेट, कोई ऐसा फॉर्मेट नहीं जहां उनके बल्ले से रन नहीं निकले हैं. डेब्यू करने के कुछ महीनों में ही तीनों फॉर्मेट में शतक लगाने वाले बल्लेबजों की सूची में उन्होंने अपना नाम दर्ज कर लिया है. देखने वाली बात यह है कि टीम मैनेजमेंट उन्हें दूसरे टेस्ट में मौका देता है या नहीं.