RO NO.....12737/20

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख बोले- पत्रकारों को हिरासत में लेना और कैद करना बंद करें

0
123
नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से एक स्वर से बोलने का आग्रह किया और अपना काम करने के लिए पत्रकारों की नजरबंदी और कारावास को रोकने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि दुनिया के हर कोने में प्रेस पर हमले हो रहे हैं।

गुटेरेस ने रेखांकित किया कि हमारी सारी स्वतंत्रता प्रेस की स्वतंत्रता पर निर्भर करती है। विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2023 से पहले अपने वीडियो संदेश में उन्होंने कहा, प्रेस की स्वतंत्रता लोकतंत्र और न्याय की नींव है। बता दें कि विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस प्रतिवर्ष 3 मई को मनाया जाता है।

RO NO.....12737/20

झूठ और दुष्प्रचार बंद करें
यूनेस्को द्वारा आयोजित एक विशेष कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र महासभा हॉल में गुटेरेस ने कहा कि विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर दुनिया को एक स्वर से बोलना चाहिए। पत्रकारों को उनके काम करने के लिए हिरासत में लेना और कैद करना बंद करें। झूठ और दुष्प्रचार बंद करें। सच और सच बोलने वालों को निशाना बनाना बंद करें।

दुनिया के हर कोने में प्रेस पर हमला 
गुटेरेस ने चिंता व्यक्त की कि दुनिया के हर कोने में प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला हो रहा है। उन्होंने कहा, विघटन और अभद्र भाषा से सत्य को खतरा है। तथ्य और कल्पना के बीच विज्ञान एवं साजिश के बीच की रेखाओं को धुंधला करने की कोशिश की जा रही है।

पत्रकारों और मीडिया कर्मियों को बनाया गया निशाना 
उन्होंने कहा कि 2022 में कम से कम 67 मीडियाकर्मी मारे गए, पिछले वर्षों की तुलना में 50 प्रतिशत की पत्रकारों और मीडियाकर्मियों पर हमलों में वृद्धि हुई। इसके अलावा तीन-चौथाई महिला पत्रकारों ने ऑनलाइन हिंसा का अनुभव किया है। उन्हें नियमित रूप से परेशान किया जाता है, डराया जाता है और हिरासत में लिया जाता है। यहां तक की जेल में डाल दिया जाता है। यूनेस्को के महानिदेशक ऑड्रे अज़ोले ने कहा कि दुनिया भर में सैकड़ों पत्रकारों पर हमला किया गया और उन्हें जेल में डाल दिया गया सिर्फ इसलिए कि वे अपना काम कर रहे हैं। यह अस्वीकार्य है।

क्यों मनाया जाता है प्रेस फ्रीडम डे
वर्ष 1993 की बात है जब संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 3 मई को विश्व स्वतंत्रता प्रेस दिवस के रूप में घोषित किया था. मीडिया संगठनों पर कई तरह का दबाव बनाया जाता है. उन्हें आर्थिक रूप से कमजोर करने की कोशिश की जाती है।