Narendra Modi

12822/ 18 RO NO

बीजापुर में सुरक्षाबलों-नक्सलियों में मुठभेड़, गोलीबारी में महिला नक्सली ढेर

0
187

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच एनकाउंटर की खबरें अक्सर सामने आती रहती हैं. आज यानी मंगलवार को बीजापुर के गंगालूर थाना क्षेत्र के कोरचोली और टोडका के बीच नक्सलियों की पुलिस से मुठभेड़ हुई. मुठभड़े के दौरान पुलिस की गोली लगने से एक महिला नक्सली की मौत हो गई, जबकि अन्य नक्सली मौके पर भाग गए. जंगल में तलाशी के दौरान पुलिस को 12 बोर की एक राइफल मिली.

बीजापुर एसपी आंजनेय वार्ष्णेय ने पुलिस मुठभेड़ की जानकारी देते हुए बताया कि सूचना पर गंगालूर थाना क्षेत्र में पुलिस टीम ने नक्सलियों की घेराबंदी की थी. घेराबंदी होते देख नक्सियों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी. जवाब में पुलिस ने भी नक्सलियों पर फायरिंग की. इस दौरान पुलिस की गोली लगने से एक महिला नक्सली की मौत हो गई. मुठभेड़ के बाद तलाशी अभियान में 12 बोर की एक राइफल. बरामद हुई.

नक्सलियों ने BJP नेताओं को निशाने पर लिया था
बता दें, बीते कुछ महीनों से नक्सलियों के हमले की घटनाएं छत्तीसगढ़ में बढ़ गई थीं. नक्सलियों ने अलग-अलग क्षेत्रों में तीन बीजेपी नेताओं की हत्या कर दी थी. यही नहीं पुलिस पार्टी पर भी हमला कर दिया था, जिसमें तीन जवानों की मौत हो गई थी. नक्सलियों के बढ़ते हमले को देखते हुए बीजेपी ने भूपेश बघेल सरकार को निशाने पर लिया था, जिससे भूपेश बघेल सरकार बैकफुट पर थी.

एक महीने पहले सुकमा में शहीद हुए थे 3 जवान
करीब एक महीने पहले 25 फरवरी को नक्सलियों ने सुकमा में DRG की टीम पर हमला कर दिया. इस हमले में DRG के तीन जवान शहीद हो गए थे. जवानों के नाम ASI रामूराम नाग, सहायक कांस्टेबल कुंजम जोगा और कांस्टेबल वंजम भीमा थे. पुलिस टीम ने भी नक्सलियों पर जवाबी कार्रवाई की थी, लेकिन जवान मौके से भाग निकले थे.

12 दिन पहले हुई थी मुठभेड़, गोली लगने से घायल हुए थे नक्सली
अभी करीब 12 दिन पहले सुकमा में ही नक्सलियों से जवानों की मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से कुछ नक्सली घायल हो गए थे. हालांकि सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस को एक भी नक्सली नहीं मिला था. सुकमा के एसपी ने कहा था कि हो सकता है कि साथी नक्सली उनको अपने साथ लेकर चले गए हों.