बाल विवाह के खिलाफ पुलिस का ऐक्शन, 2 हजार से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी

0
139

असम में बाल विवाह के खिलाफ जोरदार अभियान चलाया जा रहा है. इसे लेकर राज्य में हड़कंप भी मचा हुआ है. पुलिस बाल विवाह कराने वालों को गिरफ्तार करने में जुटी है. यह एक्शन राज्य के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा के आदेश पर हो रहा है. इस अभियान के तहत पूरे राज्य में 4074 मामले दर्ज किए गए. वहीं 57 काजी और पुजारी समेत कुल 2044 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है.

असम पुलिस के महानिदेशक (डीजीपी) जीपी सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री डॉ. हिमंता बिस्वा सरमा के निर्देश पर बाल विवाह करने वाले पतियों के खिलाफ राज्यभर में अभियान चलाया गया. इन अभियानों में 2044 लोग गिरफ्तार किए गए, जबकि 4074 लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं. इस मामले में नवनियुक्त असम पुलिस निदेशक जीपी सिंह ने कहा कि 12-13 वर्ष की लड़कियां भी इस आंकड़े में शामिल हैं, जो समय से पहले गर्भवती होकर चिकित्सकीय परेशानी उत्पन्न करती हैं.

CID से चर्चा के बाद शुरू हुआ एक्शन

उन्होंने कहा कि इस पर हमने सीआईडी से भी संपर्क किया और इस तरह की होने वाली घटनाओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने और दोषियों को दंडित करने की रणनीति बनाई गई, जिसके तहत राज्यभर में हमने पिछले दो दिनों में बाल विवाह के खिलाफ 4074 मामले दर्ज किए. दर्ज मामलों के आधार पर हमने गिरफ्तारी शुरू कर दी, जिसके तहत अबतक 2044 लोगों को गिरफ्तार किया गया. फिलहाल आगे की कानूनी प्रक्रिया शुरू की जाएगी और इन्हें अदालत में पेश किया जाएगा.

गिरफ्तारियों में जुटी पुलिस

डीजीपी ने बताया कि इस अभियान के शुरू होने के बाद कई लोग अपना घर छोड़कर फरार हो गए हैं, जिसके तहत इनकी गिरफ्तारी के लिए कुछ समय और लगेगा. इस मामले में आगे की कार्रवाई जारी है. उन्होंने बताया कि बजाली जिले में 53 मामले दर्ज किए गए और उनमें से 30 को गिरफ्तार किया गया, बाक्सा जिले में 153 मामले दर्ज हैं और 120 गिरफ्तार किए गए. वैसे ही बरपेटा जिले में 81 मामले दर्ज हैं और 114 गिरफ्तार किए गए हैं. विश्वनाथ जिले में 97 मामले दर्ज हैं और 137 गिरफ्तार किए गए. बगाईगांव जिले में 123 मामले दर्ज और 87 गिरफ्तार किए गए. कछार जिले में 50 मामले दर्ज हैं और 72 गिरफ्तार किए गए. चराईदेव जिले में 78 मामले दर्ज हैं और 65 गिरफ्तार किए गए. चिरांग जिले में 54 मामले दर्ज हैं और 40 को गिरफ्तार किया गया. दरंग जिले में 125 मामले दर्ज हैं और 42 को गिरफ्तार किया गया.

काजी और पुजारियों पर भी गिरी गाज

बता दें कि असम के सदिया जिले में 97 मामले दर्ज हैं और 38 गिरफ्तार किए गए हैं. शिवसागर जिले में 51 मामले दर्ज हैं और 24 की गिरफ्तारी हुई है. शोणितपुर जिले में 60 मामले दर्ज हैं और 20 की गिरफ्तारी हुई है. दक्षिण सालमारा जिले में 135 मामले दर्ज हैं और 46 गिरफ्तार किए गए हैं. तामुलपुर जिले में 110 मामले दर्ज हैं और 62 गिरफ्तार किए गए हैं. तिनसुकिया जिले में 73 मामले दर्ज हैं और 31 गिरफ्तार किए गए हैं. उदालगुड़ी जिले में 213 मामले दर्ज हैं और 58 गिरफ्तार किए गए हैं. वहीं बाल विवाह में शामिल हुए 57 काजी और पुजारियों को भी गिरफ्तार किया गया है.