FD पर यहां मिल रहा 9 फीसदी से अधिक का बंपर ब्याज, 50 महीने के लिए करें निवेश

0
115

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की मॉनिटरी पॉलिसी समिति (MPC) ने रेपो रेट में किसी भी तरह का इजाफा नहीं किया है. मई 2022 से लगातार रेपो रेट में छह बार बढ़ोतरी के बाद इस बार केंद्रीय बैंक ने ब्याज दर के मोर्चे पर थोड़ी नरमी बरती है. लेकिन अगर आप निवेश की राशि पर जोरदार ब्याज पाना चाहते हैं, तो इसके लिए भारत की सबसे बड़ी NBFC रिटेल चेन में से एक श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड (SFL) ने जुबली डिपॉजिट के तहत स्पेशल फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम की शुरुआत की है. इस फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम के तहत निवेश पर 9 फीसदी से अधिक का ब्याज मिलेगा.

महिला निवेशकों को मिलेगा अतिरिक्त ब्याज

श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड महिला निवेशकों को इस FD पर 0.10 फीसदी का अतिरिक्त ब्याज ऑफर कर रहा है. वहीं, वरिष्ठ नागरिकों को 0.50 फीसदी और सीनियर सिटीजन महिला निवेशकों को 0.60 फीसदी का अतिरिक्त ब्याज मिलेगा. श्रीराम फाइनेंस ने कहा कि नई ब्याज दर का फायदा 50 महीने की नई और रिन्यूअल वाली FD पर मिलेगा. नई दरें पांच अप्रैल 2023 से लागू हो चुकी हैं.

पुरुष वरिष्ठ नागरिकों को इतना मिलेगा ब्याज

श्रीराम फाइनेंस आम जनता को फिक्स्ड डिपॉजिट पर अधिकतम 8.50 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है. वहीं, महिला जमाकर्ताओं को 8.61 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. अगर कोई व्यक्ति मौजूदा FD को रिन्यूअल कराता है, तो उसे 8.77 फीसदी की दर से इंटरेस्ट मिलेगा और महिलाओं को इसके लिए NBFC 8.88 फीसदी की दर से ब्याज देगा. पुरुष वरिष्ठ नागरिकों को इस 50 महीने की डिपॉजिट पर 9.04 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. वहीं, महिला सीनियर सिटीजन को श्रीराम फाइनेंस 9.15 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है.

किसे मिलेगा 9.42 फीसदी का ब्याज?

अगर कोई पुरुष सीनियर सिटीजन इस स्कीम के तहत FD रिन्यूअल कराता है, तो उसे 9.31 फीसदी की दर से इंटरेस्ट मिलेगा. वहीं, महिला सीनियर सिटीजन को इसके लिए 9.42 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलेगा. भारत के सबसे बड़े एनबीएफसी में से एक श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड 43 साल पुरानी फर्म है. ये श्रीराम समूह की सहायक कंपनी है. श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड ने जनवरी के महीने में फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में इजाफा किया था.

रिजर्व बैंक ने दी राहत

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने मई 2022 से लेकर फरवरी 2023 तक रेपो रेट में 2.50 फीसदी का इजाफा किया था. नई फाइनेंसियल ईयर की पहली MPC की बैठक में रिजर्व बैंक ने लोगों को राहत दी है. पिछले वित्त वर्ष में रेपो रेट बढ़ने के बाद देश के तमाम बैंकों ने अपनी FD स्कीम को आकर्षक बनाने के लिए ब्याज दरों में इजाफा किया है.