Narendra Modi

12784/20 RO NO

छह दरिंदे: चचेरी बहनों से सामुहिक दुष्कर्म…फिर चार लड़कियों से छेड़खानी, बेल्ट से पीटा और मोबाइल भी छीना

0
210

फतेहपुर जिले के हुसैनगंज कोतवाली क्षेत्र में सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने वाले युवक पूरी रात मेला परिसर के आसपास घूम-घूमकर घटनाएं करते रहे। दूसरी घटना में पीड़ितों के आरोपियों की पहचान के बाद ये बात साफ हो गई।

आरोपियों ने पहले दुष्कर्म जैसा कुकृत्य किया। फिर दूसरी घटना में युवती और किशोरियों से छेड़खानी और मारपीट की। विरोध पर दौड़ा-दौड़ाकर बेल्ट से पीटा। इन पीड़ितों ने थाने में सभी को पहचान लिया। पुलिस ने एक युवती की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ छेड़खानी, मारपीट, धमकी, पाक्सो एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

थाना क्षेत्र के शोभन सरकार मेले से रविवार रात घर लौट रही एक गांव की नाबालिग चचेरी बहनों के साथ छह युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। पुलिस ने मामले में मिर्जापुर मजरे तालुके गांव के प्रभात यादव, दिलीप यादव, प्रदीप यादव, विकास यादव, शैलेंद्र यादव और हथगाम थाने के राजन यादव को गिरफ्तार किया।

पुलिस दो और युवकों की भूमिका की जांच में जुटी है। इसी रात एक और घटना हुई थी। इस घटना में एक 23 वर्षीय युवती, 19 वर्षीय युवती, 12 वर्षीय किशोरी, 11 वर्षीय किशोरी और 12 वर्ष का किशोर भी मेला देखकर घर लौट रहे थे। इन्हें रास्ते में छह युवकों ने पकड़ा और छेड़खानी की थी।

 

विरोध करने पर चारों को बेल्ट से पीटकर जान से मारने की धमकी दी थी। मोबाइल भी छीन ले गए थे। पुलिस ने इस मामले में युवती (23) की तहरीर पर घटना के समय आरोपियों द्वारा एक-दूसरे के लिए गए नामों के आधार पर शैलेंद्र, प्रभात, दिलीप के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने आरोपियों की पहचान कराई।

पीड़ितों ने बाकी तीन प्रदीप, विकास और राजन को पहचान लिया। पुलिस इन तीनों को विवेचना दौरान प्रकाश में लाई है। प्रभारी निरीक्षक राजेंद्र सिंह ने बताया कि दूसरे छेड़खानी के मामले में भी इन्हीं आरोपियों ने घटना की थी। सामूहिक दुष्कर्म और छेड़खानी के मुकदमे में आरोपियों को जेल भेजा गया है।

आरोपियों और पीड़ितों के कपड़े, डीएनए सुरक्षित
मेडिकल जांच के दौरान पीड़ित चचेरी बहनों के कपड़ों को सुरक्षित किया गया है। उनका डीएनए सैंपल भी जांच के लिए डाक्टर ने सुरक्षित किया है। सारे आरोपियों के कपड़े और डीएनए सैंपल सुरक्षित किया गया है। सैंपल जल्द ही विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजे जाएंगे।

अंधेरे का फायदा उठाया, लेकिन एक दूसरे का नाम लेने में फंसे
सामूहिक दुष्कर्म के बाद सामूहिक रूप से छेड़खानी के बाद युवकों ने अंधेरे का फायदा उठाकर घटनाएं की हैं। इसी वजह से पुलिस उन तक नहीं पहुंच सकती। दोनों घटनाओं में आरोपी एक दूसरे को गाली गलौज कर नाम पुकारते थे। आरोपियों की धरपकड़ के लिए ये अहम सुराग साबित हुआ।

सामूहिक दुष्कर्म के बाद फिर मेला पहुंचे थे आरोपी
आरोपियों को पुलिस का जरा भी खौफ नहीं था। वह सामूहिक दुष्कर्म की वारदात के बाद करीब साढ़े 12 बजे फिर मेला स्थल पहुंचे थे। जहां आधे घंटे तक घूमते रहे। दूसरे गांव की लड़कियों को फिर जाते देखा, तो उनका पीछा किया। उनके साथ रास्ते में छेड़खानी की।

समूह बनाकर घूमने वाले युवकों ने एक ही रात सात लड़कियों की इज्जत से खिलवाड़ किया। वहीं दो बालकों के साथ मारपीट भी की। आरोपियों में शैलेंद्र और प्रभात यादव ट्रक खलासी हैं। दूसरा आरोपी प्रदीप यादव इंटर का छात्र है। तीसरा विकास और दिलीप बीए द्वितीय वर्ष का छात्र है। हथगाम का राजन रिश्तेदार के घर आया था।

मेले में शाम से हजारों की भीड़
गंगा तट पर बसे सेनपुर शोभन सरकार की कुटी का मेला काफी चर्चित है। यहां पांच दिन का मेला लगता है। मेले में तरह-तरह के अनुष्ठान कार्यक्रम होते हैं। इन दिनों 24 घंटे भंडारा चलता है। दोपहर दो बजे के बाद भागवत और शाम से दूसरे दिन भोर पांच बजे रामलीला आयोजन होता है। प्रतिदिन करीब 50 हजार की भीड़ पहुंचती है।