RO NO.....12737/20

छत्तीसगढ़ की 53 बेटियों को इंटरनेशनल कंपनी में दिवाली पर मिला नौकरी का तोहफा

0
346

रायपुर। DDU-GKY छत्तीसगढ़, बेटियां के सशक्तिकरण के लिए सदैव कुछ नया करने की सोच रखता है। इस दीपावली, DDU-GKY छत्तीसगढ़ ने 53 बेटियों को नौकरी का तोहफा दिया है। त्यौहारों के इस मौके पर योजना में ट्रेनिंग पूरी कर ये बेटियां अपनी पहली नौकरी शुरु करेंगी। ये सभी, टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स प्राइवेट लिमिटेड के होसुर, तमिलनाडु प्लांट में जूनियर तकनीशियन के रूप में काम करेंगी।

RO NO.....12737/20

DDU-GKY द्वारा प्रशिक्षित ये 53 बेटियां, 23 अक्टूबर रायपुर स्टेशन से ट्रेन द्वारा नौकरी ज्वॉइन करने होसुर रवाना हुईं। ये सभी बेंगलुरु होते हुए होसुर, तमिलनाडु पहुंचीं। नौकरी ज्वॉइन करने से पहले इन्होंने टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स प्राइवेट लिमिटेड (टीईपीएल) और स्किल सोनिक द्वारा आयोजित 10 दिनों की सुरक्षा और सीएनसी संचालन पर प्रशिक्षण पूरा कर लिया है।
राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (CGSRLM) द्वारा राज्य में संचालित (DDU-GKY) के अंर्तगत ट्रेनिंग दे रहे PIA (कार्यक्रम क्रियान्वयन एजेंसी) चिन्मय बिल्डर्स, स्मार्ट स्किल्स द्वारा प्रशिक्षित 72 बेटियों को 21 अक्टूबर 2022 को मिशन संचालक (एमडी), CGSRLM, ‘बिहान’ द्वारा नियुक्ती पत्र सौंपा गया। विकास भवन, नया रायपुर, सेक्टर 19 में सुबह योजना में प्रशिक्षित युवाओं को जब नियुक्ती पत्र सौंपे गए तब उनके चेहरों पर खुशी साफ ज़ाहिर हो रही थी।
डीडीयू-जीकेवाई ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार (एमओआरडी) की प्लेसमेंट-लिंक्ड कौशल प्रशिक्षण पहल है, जिसका उद्देश्य विशिष्ट रूप से 15 से 35 वर्ष की आयु के ग्रामीण गरीब युवाओं के लिए आय के मौके पैदा करना है।