RO NO.....12737/20

छत्तीसगढ़ की 2 महिला नक्सलियों का एनकाउंटर, दोनों पर था 28 लाख का इनाम, हथियार भी बरामद

0
142

जगदलपुर। मध्य प्रदेश में बालाघाट जिले के गढ़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत कदला के जंगल में शनिवार तड़के हाक फोर्स और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इसमें जवानों ने दो हार्डकोर नक्सली महिलाओं को मार गिराया। इन नक्सली महिलाओं पर 14-14 लाख रुपयों का इनाम घोषित था। दोनों पर मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में 26 मामले दर्ज हैं। दोनों छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले की रहने वाली थीं।

RO NO.....12737/20

आइजी बालाघाट (रेंज) संजय कुमार ने बताया कि सूचना मिली थी कि 20-22 हथियारबंद नक्सली राशन लेने कदला गांव आ रहे हैं। हाक फोर्स, सीआरपीएफ और जिला पुलिस बल ने गांव से करीब एक किलोमीटर दूर घने जंगल में घेरांबदी की और नक्सलियों को समर्पण करने को कहा, लेकिन उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। दो घंटे चली मुठभेड़ में करीब 400 गोलियां चलीं। इसमें अनुमान के मुताबिक नक्सलियों ने 250 व पुलिस ने 150 गोलियां चलाईं। इसमें विस्तार दलम की सक्रिय सदस्य सुनीता और सरिता की मौत हो गई।

सुनीता छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के चिंतलनार के ग्राम जोनागुडेम की रहने वाली थी। उस पर मध्य प्रदेश के बालाघाट में 10 और छत्तीसगढ़ में पांच मामले दर्ज थे। इसी प्रकार सरिता सुकमा जिले के ग्राम नागराम गांव की निवासी थी। उस पर बालाघाट में नौ और छत्तीसगढ़ में दो मामले दर्ज थे। मुठभेड़ में कई अन्य नक्सलियों के भी घायल हो सकते हैं, लेकिन वह भागने में कामयाब रहे। पुलिस ने श्री नाट थ्री की दो राइफल व रोजमर्रा का सामान बरामद किया है। मुठभेड़ के बाद फोर्स के 200 जवानों ने तलाशी ली। मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो संदेश जारी कर पुलिस को बधाई दी।

 

नक्सली सरिता उर्फ बिज्जे

– छग के सुकमा जिले के चिंतलनार थाना क्षेत्र के ग्राम जोनागुडेम में जन्मी नक्सली सरिता उर्फ बिज्जे खटिया मोचा दलम में एसीएम पद पर थी।

– सरिता पर मप्र में तीन लाख, छत्तीसगढ़ में पांच लाख और महाराष्ट्र में छह कुल 14 लाख रुपए का ईनाम घोषित था।

– सरिता पर मप्र में नौ और छत्तीसगढ़ में दो अपराध यानी दो राज्यों में कुल 11 अपराध दर्ज थे।

– सरिता के खिलाफ मप्र में दर्ज सभी नौ अपराध बालाघाट जिले के मलाजखंड, बैहर, गढ़ी और बिरसा थाना क्षेत्र में दर्ज थे।

– सरिता पर नवंबर 2021 में बैहर थाना क्षेत्र हत्या का अपराध भी दर्ज था।

नक्सली सुनीता उर्फ सोमडी मंडावी

– छग के सुकमा जिले के जगरगुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम नागराम की सुनीता उर्फ सोमडी मंडावी भाेरमदेव विस्तार-2 में थी।

– सुनीता पर मप्र में तीन लाख, छत्तीसगढ़ में पांच लाख और महाराष्ट्र में छह कुल 14 लाख रुपए का ईनाम घोषित था।

– सुनीता पर मप्र में दस और छत्तीसगढ़ में पांच अपराध यानी दो राज्यों में कुल 15 अपराध दर्ज थे।

– सुनीता के खिलाफ मप्र में दर्ज सभी दस अपराध बालाघाट के मलाजखंड, बैहर, गढ़ी और बिरसा थाना क्षेत्र में दर्ज थे।