RO NO.....12737/20

प्रियंका चोपड़ा ने क्यों बेटी को पाने के लिए ली सरोगेसी की मदद? किया बड़ी मुश्किलों का सामना

0
176

प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक के फेवरेट कपल हैं. कपल ने अपनी पहली बच्ची मालती मैरी का स्वागत जनवरी 2022 में सरोगेसी की मदद से किया था. अब अपने नए इंटरव्यू में प्रियंका ने बताया है कि उन्होंने क्यों सरोगेसी को चुना. साथ ही अपने बारे में सामने आई थ्योरी को लेकर भी एक्ट्रेस ने बात की.

RO NO.....12737/20

क्यों लिया था सरोगेसी का फैसला?

प्रियंका ने सरोगेसी चुनने के बारे में ज्यादा डीटेल तो नहीं बताई, लेकिन उन्होंने ये जरूर कहा कि ये सब मेडिकल कारण की वजह से हुआ है. प्रियंका चोपड़ा कहती है, ‘मुझे मेडिकल कॉम्प्लकेशन हुए थे… तो हमारे लिए ये एक जरूरी कदम था. मैं इस बात से खुश हूं कि मैं उस मकाम पर थी जहां मैं ये कर सकी. हमारी सरोगेट इतनी दयालु, बढ़िया और फनी थी. उन्होंने हमारे इस खास तोहफे का छह महीने तक ध्यान रखा.’

बेटी मालती के जन्म का ऐलान करने के साथ ही प्रियंका चोपड़ा ट्रोल होने लगी थीं. कई सोशल मीडिया यूजर्स के लिए ये बात हजम करना मुश्किल हो रहा था कि प्रियंका ने सरोगेसी की मदद से अपनी बच्ची को पाया है. ऐसे में कई बातें भी बनीं और कई थ्योरी भी सामने आईं. इसमें से सबसे खराब बात जो कही गई वो थी कि प्रियंका और निक अपने ‘बिजी शिड्यूल की वजह से’ प्रेग्नेंट नहीं हो पाए.

इस अफवाह के जवाब में प्रियंका चोपड़ा ने कहा, ‘आप मुझे नहीं जानते. आप नहीं जानते कि मैं किन चीजों से गुजरी हूं. मैं अपनी मेडिकल हिस्ट्री या अपनी बेटी की मेडिकल हिस्ट्री को पब्लिक में नहीं बताना चाहती, इसका मतलब ये नहीं है कि आप कुछ भी मनघड़न्त कहानी बनाएंगे.’

समय से तीन महीने पहले पैदा हुई थी मालती

प्रियंका और निक की बेटी मालती मैरी प्री-मैच्योर पैदा हुई थी. ब्रिटिश वोग के मुताबिक, मालती अपने जन्म के समय से पूरा एक ट्राइमेस्टर पहले पैदा हुई थीं. ऐसे में कपल को नहीं पता था कि वो जिंदा बचेंगी या नहीं. बच्ची के जन्म के बाद तीन महीनों तक प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस ने कैलिफोर्निया के Rady Children’s Hospital के चक्कर लगाए. इस अस्पताल के NICU में मालती भर्ती थीं. बाद में लॉस एंजलिस के Cedars-Sinai अस्पताल में मालती को रखा गया था.

प्रियंका चोपड़ा इस बारे में बताती हैं, ‘जब वो दुनिया में आई मैं ऑपरेटिंग रूम में ही थी. वो बहुत छोटी थी, मेरे हाथ से भी छोटी. मैंने देखा कि इंटेन्सिव केयर की नर्सें क्या करती हैं. वो भगवान का काम कर रही हैं. निक और मैं वहीं खड़े थे जब वो मालती को मशीन से जोड़ रहे थे. मुझे नहीं पता कि उन्हें उसकी छोटी-सी बॉडी में चीजें कैसे मिलीं मशीन लगाने के लिए. हमने हर दिन उसके साथ बिताया है. कभी वो मेरे सीने पर होती थी तो कभी मेरे पति के सीने पर. मुझे नहीं पता था कि वो बचेगी या नहीं.’

जब बेटी के खाने से डरीं प्रियंका

प्रियंका बताती हैं कि कैसे वो हमेशा बेटी मालती को लेकर डरी रहती हैं. उन्होंने कहा, ‘पहली बार मैंने उसे कुछ खिलाया तो वो उसके गले में अटक गया था. मुझे लगा कि मैंने उसकी जान ले ली है. परिवार ने मुझे इस बारे में समझाया है. उन्होंने बताया कि बच्चों के गले में खाना कभी-कभी फंसता ही है. लेकिन क्योंकि मैं NICU वाली मां हूं, तो मेरे लिए ये बड़ी बातें हैं. मुझे इन बातों से आगे निकलना है. और मैं निकलूंगी भी.’

उन्होंने आगे बताया, ‘जब मालती खाना खाती है तो उसके आसपास लगभग सात लोग होते हैं. मेरी मां और उनके भाई. और फिर निक के भाई और उनके पेरेंट्स.’ प्रियंका ने बताया कि बेटी मालती किसके जैसी दिखती है. वो कहती हैं, ‘बहुत से लोग कहते हैं कि वो निक के जैसी दिखती है, लेकिन मैं ये नहीं मानती.’