Narendra Modi

12784/20 RO NO

क्‍या 75 रुपये के सिक्‍के से खरीद सकते हैं सामान? आपको कहां और कैसे मिलेगा, 50% चांदी से बना है यह सिक्‍का

0
251

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने रविवार को नए संसद भवन के उद्घाटन मौके पर एक दुर्लभ सिक्‍का भी जारी किया. देश की आजादी के 75वें साल के उपलक्ष्‍य में जारी इस 75 रुपये के सिक्‍के को हर भारतीय अपने हाथ में लेना चाहता है. आपका भी आकर्षण इस सिक्‍के की तरफ है तो पहले इसकी खूबियां और खामियां जान लीजिए. सबसे पहले तो आपको यह पता होना चाहिए कि क्‍या इस सिक्‍के से आप सामान खरीद सकते हैं और उससे भी बड़ी बात ये है कि आपको यह सिक्‍का कहां और कैसे मिलेगा.

सबसे पहले बात करते हैं कि यह सिक्‍का देखने में कैसा है और इसकी खासियत क्‍या है. वित्‍त मंत्रालय के आर्थिक मामलात विभाग ने बताया है कि यह सिक्‍का वजन में करीब 35 ग्राम है और सिक्‍के के मुख्‍य भाग पर अशोक स्‍तंभ बना हुआ है. इसके बीच में ‘सत्‍यमेव जयते’ के साथ देवनागरी लिपि में ‘भारत’ लिखा हुआ है. साथ ही अंग्रेजी में ‘इंडिया’ भी लिखा है. सिक्‍के के एक तरफ नए बने संसद भवन की तस्‍वीर छपी है, जिसके नीचे लिखा है ‘संसद संकुल’.

50 फीसदी चांदी का इस्‍तेमाल
आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि यह सिक्‍का अपनी मूल कीमत से भी ज्‍यादा कीमती है. कहने का मतलब है कि इस सिक्‍के को बनाने में जो लागत आई है उसका मूल्‍य 75 रुपये से भी ज्‍यादा है. यह सिक्‍का करीब 44 मिलीमीटर का है और इसे बनाने में 50 फीसदी चांदी का इस्‍तेमाल हुआ है. यानी यह सिक्‍का अगर 35 ग्राम का है तो 17.5 ग्राम सिर्फ चांदी का इस्‍तेमाल हुआ है. बाकी में 40 फीसदी कॉपर और 5 फीसदी निकल व 5 फीसदी जिंक का इस्‍तेमाल किया गया है.

क्‍या खरीदारी में कर सकते हैं इस्‍तेमाल
आरबीआई और सरकार ने इस सिक्‍के को एक प्रतीक चिन्‍ह और स्‍मरण के तौर पर लागू किया है. साथ ही इसका वास्‍तविक मूल्‍य इसके अंकित मूल्‍य से कहीं ज्‍यादा है. लिहाजा इस 75 रुपये के सिक्‍के को लीगल टेंडर यानी वैध मुद्रा नहीं माना जा सकता है. इसका इस्‍तेमाल जनरल सर्कुलेशन में भी नहीं किया जा सकता है.जाहिर है इस मुद्रा का इस्‍तेमाल आप सामान खरीदने या ट्रांजेक्‍शन में नहीं कर सकते हैं. फिलहाल सिक्‍योरिटी ऑफ प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL) सिर्फ 5 मूल्‍य के सिक्‍को को ही चलन में स्‍वीकार करता है. इसमें 1 रुपये, 2 रुपये, 5 रुपये, 10 रुपये, 20 रुपये के सिक्‍के ही शामिल हैं. सरकार ने 1964 में पहली बार स्‍मृति चिन्‍ह के तौर पर सिक्‍का जारी किया था और तब से आज तक 150 सिक्‍के जारी किए जा चुके हैं.

कहां से और कितने में सकते हैं खरीद
इस सिक्‍के को कोई भी भारतीय सरकारी वेबसाइट www.indiagovtmint.in. से खरीद सकता है. इसके लिए पहले आपको ऑर्डर देना पड़ेगा और फिर आपके रजिस्‍टर्ड पते पर इसे डिलीवर कर दिया जाएगा. फिलहाल सरकार ने इसकी कीमत अभी तय नहीं की है, लेकिन जल्‍द ही इसकी घोषणा की जा सकती है. बुलियन ज्‍वैलर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष योगेश सिंघल के अनुसार, इस सिक्‍के की बाजार वैल्‍यू करीब 1,300 रुपये हो सकती है.