RO NO.....12737/20

मंच पर मौजूद थे टीवी वाले राम-सीता, CM बघेल को याद आ गया रोचक किस्सा, आप भी पढ़ें

0
214

रायपुर । छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में दशहरा का त्योहार मनाया गया। WRS ग्राउंड में 111 फीट ऊंचे रावण के पुतले का दहन किया गया। मुख्यमंत्री परिवार समेत इस कार्यक्रम में आए। यहां फेमस टीवी शो रामायण में राम और सीता का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया भी पहुंचे। कार्यक्रम में शानदार आतिशबाजी हुई, मुख्यमंत्री और अतिथियों ने रावण का दहन किया।

RO NO.....12737/20

कार्यक्रम में इससे पहले अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने दिल चस्प किस्सा शेयर किया। उन्होंने कहा – पहले सीरीयल आया था विक्रम बेताल, फिर फिल्म आई सावन को आने दो… मैं श्रीमति से पूछ रहा था हमने कौन सी फिल्म देखी थी अरुण गोविल जी की, वो बोलीं सावन को आने दो, हमने वो फिल्म थिएटर में जाकर देखी थी। फिर रामायण और के माध्यम से जन- जन के प्रिय अरुण जी और दिपिका जी को देखले को मिला, रामायण में राम सीता के किरदारों के साथ दिपिका जी और राम जी ने पूरा न्यान किया। आज भी लोग मिलते हैं तो उन्हें इसी रूप में देखते हैं जैसे वो राम और सीता हैं।


राम अरुण गोविल ने सुनाया रामायण का सबसे अहम डायलॉग
अरुण गोविल ने मंच से कहा- राम दुनिया का छोटा शब्द सुनने में कितना मीठा है। बोलने में पावन है। इसकी महिमा देखें आप यदि एक बार कहें तो भगवान राम होता है, दो बार करें राम-राम तो अभिवादन हो जाता है, तीन बार करें राम-राम-राम तो दुख व्यक्त करती संवेदना हो जाती है। 4 बार राम कहें तो भजन हो जाता है। फिर राम नाम…. अंतिम पड़ाव का यही शब्द होता है।

अरुण गोविल ने राम और रावण के बीच सीरीयल रामायण का डायलॉग सुनाया- सीन था जिसमें रावण को हनुमान सीने पर मुक्का मारते हैं, लक्ष्मण ने पहिया तोड़कर रथ से गिरा देते हैं। तब राम भगवान ने कहा- वाह रावण वाह भगवान के शिव के त्रिशुल के समान प्रचंद हुनमान का प्रहार सह लिया तुम वीर हो। परंतु दुश की बात है अपनी वीरता और शक्ति का प्रयोग तुमने अधर्म के काम में किया। तुम उत्तम भक्त हो। हम रघुवंशी निहत्थे पर वार नहीं करते। ये तुम्हारी दुदर्शा है, जाओ कल फिर शस्त्र लेकर आना। अरुण गोविल ने कहा कि ज्ञान, शक्ति और धन का प्रयोग रावण ने गलत कामों में किया अंत बुरा हुआ। इसी तरह हमें जीवन में सीखना चाहिए।


सीता बोलीं मैं तो बहू हुई
सीरीयल में सीता का कैरेक्टर निभाने वाली दीपिका ने कहा- आज हम सुबह ही मुंबई से आए और कौश्ल्या मां के मंदिर मंे गए। मैं जानती थी कि राम जी का ननिहाल यहां पर है । मुझ से पूछा गया कि ननिहाल आकर कैसा लगा अरे ये क्यांे नहीं कहते ससुराल आकर कैसा लगा, हूं न मैं आपकी बहू। आज एक बहुत पावन दिन है। हर साल जब दशहरा आता है यही सोचते हैं कि रावण बहुत शक्तिशाली था ज्ञानी था तीनों लोकों पर राज करता था। शिव भक्त था। इतना शक्तिशाली आदमी का राम ने कैसे वध किया। उनका वध इसलिए किया क्योंकि राम चरित्रवान थे। दशहरा यही सीख देता है कि हम अच्छे नागरिक बने।

सबसे पहले अभिनेता अरुण गोविल और श्रीमती दीपिका चिखालिया ने मैदान में चारों ओर रथ में सवार होकर भ्रमण किया। इस दौरान आतिश बाजी की बिखरेगी मनोहारी छटा भी स्थल में गुंजायमान हुई राम_राम, जय राजाराम
की धुन

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास में विजयादशमी पर्व के पावन अवसर पर शस्त्र पूजा की। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित अधिकारियों-कर्मचारियों सहित प्रदेशवासियों को विजयादशमी पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि दशहरा का पर्व असत्य पर सत्य की जीत, अंधकार पर प्रकाश की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत का पर्व है। यह पर्व हमें अपने अहंकार तथा बुराई को समाप्त कर अच्छाई तथा सत्य की राह पर चलने की सीख देता है।