Narendra Modi

12784/20 RO NO

FD पर 9 फीसदी से अधिक का ब्याज दे रहा ये बैंक, 999 दिनों के लिए करना होगा निवेश

0
158

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक (SSFB) ने फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposits) पर मिलने वाली ब्याज दरों में बदलाव किया है. बैंक ने एक से पांच साल तक की दो करोड़ रुपये वाली फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर मिलने वाली ब्याज दरों में 49 से 160 बेसिस प्वाइंट (BPS) का इजाफा किया है. बैंक ने अपने एक बयान में कहा कि नई ब्याज दरें पांच मई से प्रभावी हो गई हैं. बैंक FD पर 9 फीसदी से अधिक का ब्याज ऑफर कर रहा है. वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त 50 बेसिस प्वाइंट का ब्याज मिलेगा.

वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त ब्याज

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक 9 फीसदी से अधिक का ब्याज 999 दिन और पांच साल में मैच्योर होने वाली फिक्स्ड डिपॉजिट पर ऑफर कर रहा है. ब्याज दरों में बदलाव के बाद बैंक आम जनता को FD पर 4.00 फीसदी से 9.10 फीसदी के बीच ब्याज ऑफर कर रहा है. सात साल से लेकर 10 साल तक की दो करोड़ रुपये से कम की FD पर बैंक वरिष्ठ नागरिकों को 4.50 फीसदी से लेकर 9.60 फीसदी के बीच ब्याज ऑफर कर रहा है.

मार्च में भी बढ़ी थीं दरें

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक ने इससे पहले मार्च 2023 में अपनी एफडी की ब्याज दरों में बदलाव किया था. बैंक ने तब पांच से 10 साल तक की FD के लिए ब्याज दरों में 75 से 125 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया था. इसके अलावा बैंक ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में भी 200 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी. SSFB अपने सेविंग अकाउंट वाले ग्राहकों को 5 लाख रुपये से 2 करोड़ रुपये तक के स्लैब में 7.00 फीसदी तक की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है.

ये बैंक भी ऑफर कर रहे हैं जोरदार ब्याज

SSFB के अलावा यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक अपने सीनियर सिटीजन ग्राहकों के लिए 1,001 दिनों में मैच्योर होने वाली FD पर 9.50 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है. वहीं, अन्य लोगों के लिए बैंक समान अवधि वाली FD पर 9 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है. उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक भी अपने वरिष्ठ नागरिकों लिए 700 दिनों में परिपक्व होने वाली एफडी पर 9 प्रतिशत की ब्याज दर की पेशकश कर रहा है. वहीं, अन्य के लिए समान अवधि के डिपॉजिट पर ब्याज दर 8.25 फीसदी तय की गई है.

पिछले वित्त वर्ष में रिजर्व बैंक ने लगातार रेपो रेट में इजाफा किया था. इसकी वजह से बैंकों ने भी अपनी FD की ब्याज दरों में इजाफा किया था. मौजूदा वित्त वर्ष में केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट में अभी तक कोई भी इजाफा नहीं किया है.