RO NO.....12737/20

फिल्मफेयर अवार्ड में ‘द कश्मीर फाइल्स’ को नहीं मिला कोई अवार्ड, अनुपम खेर ने शेयर किया पोस्ट

0
144

68वें फिल्मफेयर अवार्ड्स का आयोजन 27 अप्रैल की शाम को हुआ था. इसमें आलिया भट्ट और डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘गंगुबाई’ और राजकुमार राव स्टारर फिल्म ‘बधाई दो’ को बड़ी जीत हासिल हुई. इस अवॉर्ड शो में अनुपम खेर की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को 7 कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था. इसके डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री को बेस्ट डायरेक्टर की कैटेगरी में नॉमिनेशन मिला था. लेकिन ये फिल्म कोई भी अवॉर्ड अपने नाम करने में नाकाम साबित हुई. अब एक्टर अनुपम खेर ने एक अजीब पोस्ट शेयर किया है.

RO NO.....12737/20

अनुपम खेर ने किया ट्वीट

फिल्मफेयर के नॉमिनेशन्स की लिस्ट सामने आने के बाद डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने ऐलान किया था कि वो एक भी अवॉर्ड नहीं लेंगे. उन्हें इस अनैतिक और भ्रष्ट अवॉर्ड से अपना नाता नहीं जोड़ना है. अब जब फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को एक भी अवॉर्ड नहीं मिला तो अनुपम खेर ने बड़ी बात कह दी है. उन्होंने ट्विटर पर एक क्रिप्टिक पोस्ट शेयर किया है. अनुपम ने लिखा, ‘इज्जत एक महंगा तोहफा है. इसकी उम्मीद सस्ते लोगों से ना रखें.’

माना जा रहा है कि अनुपम खेर का इशारा फिल्मफेयर अवॉर्ड की तरफ है. उनके ट्वीट पर कई यूजर्स ने अपने रिएक्शन दिए हैं. कई का कहना है कि उनकी बात एकदम सही है. तो बहुत से ऐसे भी हैं, जो उनकी फिल्म को खराब बता रहे हैं. एक यूजर ने लिखा, ‘आप अवॉर्ड्स से ऊपर हैं. द कश्मीर फाइल्स में आपकी एक्टिंग को ऑस्कर मिलना चाहिए था. फिल्मफेयर ‘जुबां केसरी’ वाले लोगों के लिए है.’ दूसरे ने लिखा, ‘फिल्मफेयर एक कीमती अवॉर्ड है, घटिया फिल्म उसे जीतने की उम्मीद ना रखे.’

विवेक अग्निहोत्री ने कही थी ये बात

अनुपम खेर से पहले विवेक अग्निहोत्री ने फिल्मफेयर को लेकर बात की थी. उन्होंने अपनी फिल्म को नॉमिनेशन मिलने के बाद अवॉर्ड शो को सीधे ना कह दिया है. अवॉर्ड लेने से मना करने की बात का कारण भी उन्होंने अपने लंबे बयान में दिया है. विवेक ने लिखा, ‘मुझे मीडिया से पता चला है कि द कश्मीर फाइल्स को 7 कैटेगरी में नॉमिनेशन मिला है. लेकिन मैं इन अनैतिक और सिनेमा के विरुद्ध अवॉर्ड्स को नम्रता से नकारता हूं. इस कारण भी बताता हूं.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘फिल्मफेयर के मुताबिक, स्टार्स के अलावा किसी का कोई चेहरा नहीं है. किसी के होने ना होने से फर्क नहीं पड़ता. फिल्मफेयर की अनैतिक दुनिया में मास्टर डायरेक्टर जैसे संजय लीला भंसाली और सूरज बड़जात्या के कोई चेहरे नहीं हैं. भंसाली की पहचान आलिया भट्ट से होती है, सूरज की मिस्टर अमिताभ से और अनीस बज्मी की कार्तिक आर्यन से. ऐसा नहीं है कि फिल्मफेयर अवॉर्ड से किसी फिल्मकार की इज्जत बढ़ती है लेकिन ये शर्मिंदगी का सिस्टम खत्म होना चाहिए.’

‘इसलिए मैं बॉलीवुड के इस भ्रष्ट, अनैतिक और चापलूसी भरे अवॉर्ड को नकारता हूं. मैं ऐसा कोई अवॉर्ड नहीं लूंगा. मैं ऐसे भ्रष्ट और दबाव डालने वाले सिस्टम का हिस्सा बनने से इनकार करता हूं जो राइटर, डायरेक्टर, दूसरे HOD और क्रू मेंबर्स को स्टार्स से नीचा और उनका गुलाम समझता है. जो लोग जीतेंगे उन्हें मेरी तरफ से बधाई. अच्छी बात ये है कि मैं अकेला नहीं हूं. धीरे-धीरे एक समानांतर हिंदी फिल्म इंडस्ट्री खड़ी हो रही है. तब तक… सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं, मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए. मेरे सीने में नहीं तो तेरे सीने में सही, हो कहीं भी आग, लेकिन आग जलनी चाहिए. – दुष्यंत कुमार.’

फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ की बात करें तो ये फिल्म मार्च 2022 में रिलीज हुई थी. इन 250 करोड़ रुपये का कलेक्शन बॉक्स ऑफिस पर किया. विवेक ने अपनी इस फिल्म को ऑस्कर 2023 की रेस में भी भेजा था. लेकिन ये नॉमिनेशन पाने में नाकाम रही थी. अनुपम खेर के साथ मिथुन चक्रवर्ती, मृणाल सेन, पल्लवी जोशी और दर्शन कुमार ने काम किया था.