बेटे ने दोस्‍तों के साथ मिलकर पिता पर किया हमला, काट डाली अंगुलियां और प्राइवेट पार्ट

0
158

काशीपुर में एक कलयुगी पुत्र के द्वारा दोस्तों के साथ मिलकर अपने पिता पर जानलेवा हमला करते हुए हाथों की अंगुलियां और प्राइवेट पार्ट काटने का मामला सामने आया है। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस द्वारा पुत्र और उसके दोस्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

लकड़ी काटने वाली पाटल से हमला कर दिया
काशीपुर के कचनागाजी कुमाऊं कालोनी के रहने वाले किशन बहादुर पुत्र स्व. दिलबहादुर ने पुलिस को तहरीर के माध्यम से बताया कि बीते 26 दिसंबर की शाम को उसके पुत्र अर्पित थापा व उसके दोस्तों ने उसे मारने की नियत से लकड़ी काटने वाली पाटल से हमला कर दिया।

इसके बाद उसके बाएं हाथ की अंगुलियां और प्राईवेट पार्ट को भी काट दिया। पूरे मामले में उसके पुत्र अर्पित सहित चार लड़के थे। कहा कि उनमें से तीन को वह पहचानता है, बताया कि हमला करने वालों में अर्पित थापा सहित रोहित वर्मा पुत्र मदन वर्मा निवासी कुमाऊं कालोनी रम्पुरा काशीपुर और राहुल सैनी पुत्र सतपाल सैनी ग्राम कचनालाजी काशीपुर और इनके साथ एक और लड़का शामिल था। जिसे वह पहचान नहीं सका।

मुंह को हाथ से दबा रखा था और पैर पकड़कर रखे

बताया कि इन लोगों ने इस दौरान किशन बहादुर के मुंह को हाथ से दबा रखा था और पैर पकड़कर रखे। जिससे कि वह चिल्ला न सके। इसके बाद आरोपित मौके से चले गये और वह बेहोश हो गया। जब उसके भाई को पता चला तो वो उसे अस्पताल ले गये।

आरोप है कि जब किशन बहादुर अस्पताल में भर्ती था तो उसके पुत्र अर्पित ने उसके भतीजे विशाल थापा को फोन कर जान से मारने की धमकी दी। काशीपुर पुलिस अधीक्षक अभय सिंह ने बताया कि पीड़ित के द्वारा तत्काल सूचना नहीं दी गई, बल्कि घटना के काफी दिन बाद सूचना दी गई। सेना में है अर्पित थापा

प्रतापपुर पुलिस चौकी इंचार्ज से जांच कराने के बाद मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घटना का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि पीड़ित का पुत्र अर्पित थापा सेना में है और वह इनसे अलग रहता है।

किसी बात को लेकर इनका आपस में मनमुटाव रहता था और अर्पित उस पर संदेह करता था। उनके मुताबिक मामले में चिकित्सकों के बयान दर्ज किए जाने के बाद तथा अन्य जांच पूरी करने के बाद मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।