CG विधानसभा: अनुपूरक बजट पर हुई चर्चा, विपक्ष ने चरणदास से की अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की मांग जानिए फिर क्या हुआ

0
86

रायपुर। मुख्यमंत्री बघेल ने सदन में छह हजार इकतीस करोड़ पचहत्तर लाख दो हजार नौ सौ सतहत्तर रुपए का अनुपूरक बजट पेश किया। जो बीते 23 वर्षों में सबसे बड़ा अनुपूरक बजट है। इसके पारित होने पर इस वर्ष के लिए राज्य का कुल बजट बढक़र 1.13 लाख करोड़ को हो जाएगा। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने आज ही अनुपूरक बजट पर चर्चा की अनुमति दी। हालांकि विपक्ष ने आज ही चर्चा कराए जाने पर आपत्ति की।

भाजपा की ओर से बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि सदस्यों को बजट की कॉपी भी नही मिली है तो आखिर चर्चा कैसे होगी। विपक्ष ने व्यवस्था का प्रश्न उठाया। बाद में अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी ताकि सदस्य अनुपूरक बजट की कॉपी प्राप्त कर ले और उसके बाद चर्चा में भाग ले सके।
इतने बड़े अनुपूरक बजट में नये विधायकों को लैपटॉप देने 68 लाख रूपए, सीआईएफ की तरह छत्तीसगढ़ में राज्य औद्योगिक सुरक्षा बल का 500 पदों का एक बटालियन गठन, दुर्ग में केंद्रीय वीर्य संग्रहालय स्थापित करने 264.62 लाख रुपए, आजादी का अमृत महोत्सव के तहत लघु फिल्म हैंडस आफ लव के निर्माता चेन्नई की फर्म को 151.70 लाख रूपए का अतिरिक्त भुगतान, दुर्ग विश्वविद्यालय में आचार्य नरेंद्र देव शोध पीठ स्थापना के लिए 20 लाख, अंबिकापुर, रायगढ़, बिलासपुर मेडिकल कॉलेज में यू जी / एमबीबीएस सीटों में वृद्धि के लिए कुल 462 लाख, रायपुर में विशेष जेल निर्माण के लिए 100 लाख, भिलाई में सॉफ्टवेयर पार्क के लिए 3.91 लाख रूपए दिए गए हैं।

छत्तीसगढ़ विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही जारी है। फिलहाल सदन में अनुपूरक बजट चर्चा शुरू है। इससे पहले विधानसभा में सरकार के खिलाफ विपक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव लाया है। आसंदी ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की अनुमति दी है। 22 जुलाई को दोपहर 12 बजे से इस पर चर्चा होगी।

सदन में प्रश्नकाल के दौरान युवाओं का नग्न प्रदर्शन, शराब घोटाला, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर जमकर हंगामा हुआ। मंत्री उमेश पटेल के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने वॉकआउट कर दिया। बेरोजगारी के आंकड़ों को लेकर पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के सवाल पर लगभग 33 मिनट तक बहस चली।

अनुपूरक बजट पर चर्चा जारी है। विपक्ष ने पॉवर कंपनियों के लोन को टेकओवर करने, हाथियों के शिकार, नशाबंदी, राजीव गांधी मितान योजना के लिए अनुपूरक बजट में मद को लेकर अपनी बात रखी। किसने क्या कहा पढ़िए
अजय चंद्राकर का सवाल
– छत्तीसगढ़ ओलिंपिक का आयोजन अभी जनवरी में हुआ था। अब फिर जुलाई में शुरू हुआ। कोई समय सीमा है।
बृहस्पत सिंह का जवाब
– क्या आपको छत्तीसगढ़ के खेलों से एलर्जी है। आपको सिर्फ हेमामालिनी-करीना कपूर चाहिए?

अजय चंद्राकर ने कहा कि बेरोजगारी पंजीयन के लिए उम्र की बाध्यता नहीं है। ये बेहद हास्यास्पद है, उन्होंने चर्चा के दौरान मंत्री उमेश पटेल ने तंज कसा।
अजय चंद्राकर ने कहा कि बेरोजगारी पंजीयन के लिए उम्र की बाध्यता नहीं है। ये बेहद हास्यास्पद है, उन्होंने चर्चा के दौरान मंत्री उमेश पटेल ने तंज कसा।

प्रश्नकाल हुआ खत्म, इसमें क्या हुआ पढ़िए…
मानसून सत्र के दूसरे दिन शराब से जुड़े मामले सदन में गूंजे। जहरीली शराब, शराब पर टैक्स, शराब बंदी जैसे कई सवाल विपक्ष ने किए हैं। इसके अलावा विधानसभा रोड में SCST युवाओं के नग्न प्रदर्शन का मामला भी उठा है। सरकार पक्ष से सही जवाब नहीं मिलने पर सदन में जमकर हंगामा करते हुए विपक्ष ने नारेजाबी की है।

प्रश्नकाल में किसने क्या पूछा ?
अजय चंद्राकर के सवाल
1. 30 जून, 2023 की स्थिति में प्रदेश के रोजगार पंजीयन कार्यालयों में कितने शिक्षित पंजीकृत नवीन रोजगार चाहने वाले और रोजगार बदलने वालों के द्वारा पंजीयन कराया गया है। आवेदन, पात्र और अपात्रों की जानकारी भी ली गई।
2. CMIE के बेरोजगारी के आंकड़ों को लेकर कहा कि, जब 22 हजार लोगों को रोजगार देने का विज्ञापन दिया, तो 33 हजार लोगों की भर्ती कैसे हो गई।

नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा…

  1. बेरोजगारों को भत्ता देने के नियम रोज बदले जा रहे हैं। सरकार 10 लाख लोगों को रोजगार देने के होर्डिंग लगा रही है, लेकिन कितने बेरोजगार पंजीकृत है, इसकी जानकारी नहीं दी जा रही है। विभागीय मंत्री उमेश पटेल के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने खड़े होकर नारेबाजी शुरू कर दी।
  2. नारायण चंदेल ने प्रदेश में शराब विक्रय में अनियमितता की प्राप्त शिकायतों पर कार्रवाई की जानकारी मांगी है, उन्होंने कहा कि, जहरीली शराब पीने से सेना के एक जवान सहित 3 लोगों की मौत हुई है।

विधानसभा रोड में SC-ST युवाओं के नग्न प्रदर्शन का मामला विधानसभा में उठा, किसने क्या कहा है..

  1. शिवरतन शर्मा बोले, इस घटना से पूरा छत्तीसगढ़ शर्मसार हुआ है, ये स्थिति निर्मित क्यों है ये बड़ा सवाल है।
  2. शिवकुमार डहरिया ने कहा, ये आप लोगों का ही पाप है ,इस मुद्दे पर भाजपा के सदस्यों ने सरकार पर जमकर हमला किया।
  3. बृजमोहन अग्रवाल ने कहा, इस मामले में दोषी अफसरों पर कार्रवाई करने के बजाए युवकों पर कार्रवाई की जा रही है।
  4. नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा, ऐसी कौन सी स्थिति बन गई कि युवाओं को नग्न होकर प्रदर्शन करना पड़ा। युवाओं ने सरकार को अल्टीमेटम दिया था। इसके बाद भी उनकी मांगों को नजरअंदाज किया गया। हम सरकार से इस्तीफे की मांग करते हैं। इस मामले में उच्च स्तरीय जांच कराई जाए
  5. इस पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का जवाब– नग्न प्रदर्शन की सूचना शासन को पहले से नहीं दी गई थी। फर्जी प्रमाण पत्र के साथ नौकरी करने वालों के खिलाफ नग्न प्रदर्शन किया गया। पुलिस द्वारा रोकने पर झूमाझटकी की गई। पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इस आधार पर गिरफ्तारी की गई है। प्रकरण की विवेचना की जा रही है।
  6. सरकार के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष के सदस्य गर्भगृह में उतरकर युवाओं की रिहाई की मांग को लेकर गर्भगृह में नारेबाजी की। इधर गर्भगृह में उतरने पर विपक्षी सदस्यों को सदन की कार्यवाही से निलंबित कर दिया गया है।

शराब से हुई मौतों पर सदन में किसने क्या कहा…

  1. आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा, इनकी मौत जहरीली शराब पीने से नहीं हुई है। ये मौतें जहर पीने से हुईं है।
  2. लखमा के इस बयान जमोहन अग्रवाल ने कहा कि, ये छत्तीसगढ़ के लिए शर्मसार करने वाली बात है।
  3. नारायण चंदेल ने कहा, PM रिपोर्ट में मौत की क्या वजह सामने आई है। सदन की कमेटी इसकी जांच करे।
  4. विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, वह इस बात को मानते हैं कि यह गंभीर मामला है। इस प्रश्न का पूरा जवाब नहीं आया है, मंत्री पूरी जानकारी लेकर सदन को जवाब दें।

सदन की शुरुआत में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नए मंत्री मोहन मरकाम का सदन से परिचय कराया और मंत्रियों के विभाग परिवर्तन की भी जानकारी दी गई। सरकार आज 3 हजार करोड़ का अनुपूरक बजट पेश कर सकती है।

सदन में आज आगे क्या होगा…

बुधवार को सहकारिता मंत्री राज्य अंतव्यवसाय सहकारिता वित्त एवं विकास निगम का प्रतिवेदन पटल पर रखेंगे। मंत्री मोहम्मद अकबर ग्राम निवेश अधिनियम की अधिसूचना पटल पर रखेंगे। ​​​​​​अनिला भेड़िया दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम की अधिसूचना, जयसिंह अग्रवाल आवंटित कृषि भूमि भूस्वामी अधिकार अधिनियम पटल पर रखेंगे।

अनुपूरक बजट में सरकार प्रदेश के कई विभागों से जुड़ी योजनाओं के लिए बजट का प्रावधान करेगी। जानकारी के मुताबिक मानसून सत्र में महालेखाकार की रिपोर्ट पेश होने पर हंगामा होना तय माना जा रहा है। आने वाले दो दिन प्रदेश कांग्रेस सरकार और विपक्ष के बीच सदन में हंगामे से भरे रहेंगे।