कोरोना के नए वेरिएंट के खतरे के बीच क्या होगा भारत का नया प्लान? पीएम मोदी ने बुलाई रिव्यू मीटिंग

0
215

देश में एक बार फिर से कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन बीएफ.7 (Omicron BF.7) सामने आने के बाद दहशत का माहौल बन गया है. केंद्र सरकार पूरी तरह से सतर्क दिख रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) खुद गुरुवार (22 दिसंबर) को कोरोना (Corona) को लेकर एक रिव्यू मीटिंग करने जा रहे हैं. हाई लेवल मीटिंग के दौरान पीएम मोदी कोरोना से संबंधित तैयारियों को लेकर बात करेंगे.

केंद्र सरकार ने कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमण को रोकने के लिए विदेश से आने वाले यात्रियों को लेकर खास दिशा-निर्देश दिए हैं. देश भर के हवाईअड्डों पर विदेश से आने वाले यात्रियों की रैंडम सैंपलिंग शुरू कर दी गई है.

पीएम मोदी की हाई लेवल मीटिंग

पीएम मोदी गुरुवार दोपहर को एक उच्च स्तरीय बैठक (High Level Meeting) में देश में कोविड-19 से संबंधित स्थिति और संबंधित पहलुओं की समीक्षा करेंगे. इससे पहले बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री ने भी अधिकारियों के साथ बैठक की. केंद्र सरकार ने ओमिक्रोन के नए वैरिएंट से संक्रमण को लेकर लोगों को सलाह देते हुए कहा है कि इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है. लोगों को भीड़-भाड़ वाले इलाकों में सोशल दूरी बनाए रखने के साथ ही मास्क लगाने की सलाह दी गई है. इसके साथ ही कोरोना पॉजिटिव के नमूने INSACOG जीनोम सीक्वेंसिंग लैब में भेजने के निर्देश दिए गए हैं.

संक्रमण के खतरे को लेकर सरकार अलर्ट

चीन समेत कई देशों में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए नरेंद्र मोदी की सरकार अलर्ट है. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वैरिएंट सामने आने के बाद इसके खतरे को वक्त रहते रोकने के लिए सरकार प्रयास में जुट गई है. इसे लेकर जरूरी परीक्षण किए जा रहे हैं. वहीं, राज्यों की सरकारें भी काफी सतर्क दिख रही हैं. गौरतलब है कि गुजरात और ओडिशा में अक्टूबर-नवंबर में ओमिक्रोन के बीएफ.7 और बीएफ.12 वैरिएंट से संक्रमित तीन मरीज सामने आए थे.