RO NO.....12737/20

पानी और खाने की जगह मां-बाप बेटे को देते थे केवल धूप, भूख से तड़पकर मर गया 1 महीने का बच्चा

0
121

कहते हैं माता पिता बनते ही अपने आप जिम्मेदारियों का अहसास होने लग जाता है. इंसान बच्चे की हर छोटी बड़ी जरूरत और सेहत के फिक्र में दिन रात एक कर देता है. उसके खाने पीने से लेकर सोने पहनने और रोने तक में माता पिता की केयर और प्यार छुपा होता है. लेकिन एक माता-पिता ऐसे भी निकले जिन्होंने एक महीने के बच्चे के साथ ऐसा बर्बरता पूर्ण रवैया अपनाया कि एक महीने का बच्चा भूख और बीमारी से तड़पकर मर गया. कपल के मुताबिक उन्होंने तो सब उसकी बेहतरी के लिए किया था. लेकिन अपनी बेवकूफाना ट्रीटमेंट और अजीब न्यूट्रिशन के चक्कर में उन्होंने बच्चे की जान ले ली.

RO NO.....12737/20

एक कपल ने अपने बच्चे को खाना पानी छोड़ सिर्फ धूप खिलाया. उम्मीद थी कि बच्चा बलवान होगा और सभी तत्वों से परिपूर्ण होगा. लेकिन 1 महीने का बच्चा भूख और बिमारी से तड़पकर मर गया. पुलिस ने जब इन्हें गिरफ्तार किया तो सेहत के इनके अजीब तर्क सुनकर सिर पकड़ लिया.

खाना-पीना छोड़ बच्चे को केवल धूप खिलाते रहे मां-बाप
इन्फ्लुएंसर 43 साल के मैक्सिम ल्युटी और पत्नी 33 साल की ओक्साना मिरोनोवा ने अपने 1 महीने के बच्चे पर पोषण को लेकर ऐसा प्रैक्टिकल कर डाला कि कोई सोच भी नहीं सकता. किसी के लिए यकीन करना मुश्किल है कि इस कपल ने अपने एक महीने के बच्चे को खाने-पीने के नाम पर सिर्फ सूरज की रोशनी यानि धूप खिलाई. और उसी बलपर उसके बेहतर स्वास्थ्य की उम्मीद करते रहे. धीरे-धीरे हालत ये हो गई कि बच्चा थकने लगा, भूख से छटपटाने लगा. खाने पीने की कमी के चलते उसे निमोनिया हो गया. और आखिरकार बच्चा केवल धूप खाकर भूख-प्यास से ही मर गया. एक माता-पिता ने अपनी बेवकूफी के चलते अपना बच्चा खो दिया. जिसे लेकर पुलिस ने उन पर कार्रवाई भी की. मगर जवाब में जो तर्क मिला वो सिर पकड़ लेने वाला था.

पैरेंट्स की बेवकूफी से मर गया 1 महीने का बच्चा
रूस के सोची शहर में पैदा हुए बच्चे की मौत को लेकर बताया गया की उसकी मौत गंभीर थकावट और भूख से बच्चे की मौत हुई. जिसके बाद पुलिस कार्रवाई में मां मिरोनोवा को घर में 2 महीने के लिए नज़र बंद करने का आदेश दिया गया. कपल ब्लॉगर है, जिन्होंने अपने अधकचरे ज्ञान और बेवकूफी भरे न्यूट्रीशन तरकीब का प्रैक्टिकल अपने 1 महीने के बच्चे पर करने का संगीन आरोप लगा. जिसकी वजह से बच्चे की मौत हो गई. Radical raw foodist के तौर पर मिरोनोवा और ल्यूटी ने “द लिविंग मैन” नाम का क्लब चलाते है. फिलहाल अपने ही बच्चे को लापरवाही के चलते मारने के आरोप में उनपर आपराधिक मामला दर्ज किया गया है.