Narendra Modi

12822/ 18 RO NO

माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोली मारकर हत्या, तीनों हमलावरों को पुलिस ने पकड़ा

0
227

प्रयागराज । माफिया अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ अहमद की प्रयागराज में काल्विन अस्पताल के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई। इससे पहले अतीक अहमद के बेटे असद अहमद का झांसी एनकाउंटर हुआ था। कहा जा रहा है कि प्रयागराज मेडिकल कॉलेज के पास गोलीबारी हुई है।

माफिया को पीछे से मारी गई गोली
प्राप्त जानकारी के मुताबिक, माफिया अतीक और अशरफ को पुलिस मेडिकल के लिए ले गई। उसी वक्त अचानक से दो-तीन लोगों ने अतीक और उसके भाई के ऊपर गोलियां दाग दी। इस गोलीकांड में अतीक और अशरफ दोनों की ही मौत हो गई। बता दें कि माफिया को पीछे से गोली मारी गई है। करीब दस राउंड फायरिंग हुई। इस बीच सिपाही भी घायल हो गया।

पुलिस ने 3 लोगों को पकड़ा
माफिया अतीक और उसके भाई को गोली मारने वाले तीनों हमलावर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हमलावरों को थाने ले जाया गया है। इस बीच एक सिपाही भी घायल हो गया। घायल सिपाही को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया।

अज्ञात वाहनों लेकर आए थे हमलावर
अतीक अहमद और अशरफ को काल्विन अस्पताल परीक्षण के लिए ले जाया जा रहा था। उसी दौरान ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई। अज्ञात वाहनों से आए हमलावर इस सनसनीखेज हत्याकांड को अंजाम देने के बाद सरेंडर कर दिया। जिले की सीमा को सील कर दिया गया है। वहीं, मौके पर पुलिस के साथ आरएएफ को भी बुला लिया गया है। शहर के संवेदनशील इलाकों में पुलिस और आरएएफ के जवान तैनात कर दिए गए हैं। पुराने शहर में दंगे की स्थिति है।

इस घटना के कुछ देर पहले ही उमेश पाल हत्याकांड के विवेचक प्रभारी निरीक्षक धूमनगंज राजेश कुमार मौर्या पुलिस टीम के साथ अतीक और उसके भाई अशरफ को कसारी मसारी मोहल्ले मे ले गए थे। अतीक ने वहां नाटे तिराहे के पास झाड़ियों के बीच स्थित खंडहरनुमा मकान में झोले में छिपाकर रखे गए असलहा व कारतूस बरामद कराया था। पांच कारतूस पर पाकिस्तान आर्डिनेंस फैक्ट्री (POF) अंकित मिले थे।

”गुर्गों ने छिपाया था असलहा और कारतूस”
अतीक ने यह भी बताया था कि उसके कहने पर ही गुर्गों ने असलहा और कारतूस को छिपा दिया था। करीब 10 लाख रुपये में कोल्ड पिस्टल खरीदी गई थी। घटना स्थल से कोल्ड पिस्टल का खोखा मिला था, जिसका बरामद पिस्टल से मिलान करवाया जाएगा। यहां से अतीक और अशरफ को मेडिकल के लिए काल्विन अस्पताल ले जाया जा रहा था, कि साढ़े 10 बजे मेडिकल कराने के लिए काल्विन अस्पताल ले जा रहे थे।