गुजरात में गरबा पर पथराव करने वालों को पुलिस ने बीच चौराहे दी सजा, भीड़ ने मनाया जश्न

0
225

गुजरात में नवरात्र के दौरान गरबा इवेंट में पत्थर फेंकने वाले कुछ मुस्लिम युवकों को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद एक युवक को खंभे से बांध कर उसकी पिटाई का कथित वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कहा जा रहा है कि खेड़ा जिले का यह वीडियो है। इस वीडियो के सामने आने के बाद राज्य में विपक्षी पार्टियों का कहना है कि युवक की पिटाई कर रहा शख्स एक पुलिस अफसर है। विपक्षी ने इस मामले में कार्रवाई की मांग की है। इस कथित वीडियो में नजर आ रहा है कि 4-5 लोगों को पकड़ा गया है। एक के बाद एक इन युवकों को बिजली के पोल के पास लाया जाता है। इसके बाद कुछ लोग इनका हाथ पकड़ते हैं और एक शख्स इनकी लाठी से पिटाई करता है। युवक के कमर में लगी बेल्ट में एक पिस्टल भी नजर आ रहा है। सादे लिबास में यह व्यक्ति जब लाठी से उनकी पिटाई करता है तब आसपास के लोग हंसते हैं और फिर यह शख्स इन सभी को पास खड़ी एक पुलिस की गाड़ी में बैठने के लिए कहता है। कहा जा रहा है कि पत्थर फेंकने वालों को पुलिसवालों ने सरेआम सजा दी है। हालांकि, लाइव हिन्दुस्तान इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

आपको बता दें कि पत्थरबाजी की यह घटना उंधेला गांव में हुई थी। यहां के सरपंच इंद्रवदन पटेल ने एक न्यूज वेबसाइट से बातचीत में कहा कि 43 आरोपियों में से 10 लोगों को गिरफ्तार किया था। इन सभी पर गरबा में हिंसा का आरोप लगाया गया। इसके बाद इन्हें वहां ले जाया गया जहां गरबा आयोजित हुआ था और फिर उन्हें यह सजा भी दी गई। इधर पुलिस का कहना है कि मुस्लिम समुदाय के इन सभी लोगों को गरबा में गड़बड़ी फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आईजीपी (अहमदाबा रेंज), वी चंद्रशेखर ने कहा, ‘हम अभी वीडियो की सत्यता की पुष्टि कर रहे हैं।’ खेड़ा जिले के पुलिस अधीक्षक राजेश गाडिया ने कहा कि वो इस वीडियो की जांच करेंगे।

सोमवार की रात को क्या हुआ था?  नाडियाड के डीसपी वी आर वाजपेयी के हवाले से मीडिया रिपोर्ट मेें कहा गया है कि मुस्लिम समुदाय की एक भीड़ ने मंदिर में आयोजित गरबा को रोकने का प्रयास किया। इसके बाद पथराव और हिंसा होने लगी। घटनास्थल पर मौजूद रहे डीएसपी ने बताया कि इसमें जीआरडी के एक जवान और पुलिसकर्मी घायल हो गया। 150 अज्ञात लोगों की इस भीड़ में से कुल 43 लोगों की पहचान हो सकी। कांग्रेस विधायक इमरान खंडेवाला और गयासुद्दीन शेख ने कहा कि  लाठी से पिटाई कर रहा शख्स पुलिस वाला है और उसे तुरंत सस्पेंड किया जाना चाहिए।