Narendra Modi

12784/20 RO NO

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नेताओं के यहां ED के छापे, भूपेश बघेल बोले- अडानी से ध्यान भटकाने की कोशिश

0
225

छत्तीसगढ़ के कथित कोयला लेवी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्रवाई की है. घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रही ईडी ने कांग्रेस के कोषाध्यक्ष, विधायक समेत तमाम नेताओं के यहां छापे मारे हैं. ये छापे ऐसे वक्त पर पड़े हैं, जब छत्तीसगढ़ के रायपुर में 24-26 फरवरी तक कांग्रेस पार्टी का महाधिवेशन होना है. उधर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अडानी की सच्चाई खुलने से भाजपा हताश है. यह छापे ध्यान भटकाने का प्रयास हैं.

बताया जा रहा है कि कोयला लेवी घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रही ईडी ने एक दर्जन से ज्यादा ठिकानों पर छापे मारे हैं. इनमें कांग्रेसी नेताओं के घर भी शामिल हैं. सूत्रों के मुताबिक, ईडी उन लोगों की जांच कर रहा है, जिन्हें मौजूदा सरकार में कथित कोयला लेवी घोटाले में लाभ मिला है. आरोप है कि छत्तीसगढ़ में कोयला घोटाला हुआ है. इसमें वरिष्ठ नौकरशाह, व्यापारी, राजनेता और बिचौलियों के शामिल होने की आशंका है.

भाजपा हताश है- भूपेश बघेल

उधर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा’ की सफलता से और अडानी की सच्चाई खुलने से भाजपा हताश है. यह छापे ध्यान भटकाने का प्रयास हैं.

भूपेश बघेल ने ट्वीट कर बताया कि ईडी ने छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष, पार्टी के पूर्व उपाध्यक्ष और एक विधायक समेत तमाम कांग्रेसी नेताओं के छापे डाले हैं. उन्होंने कहा, चार दिनों के बाद रायपुर में कांग्रेस का महाधिवेशन है. तैयारियों में लगे साथियों को इस तरह रोककर हमारे हौसले नहीं तोड़े जा सकते. देश सच जानता है. हम लड़ेंगे और जीतेंगे.

 

घोटाले में अब तक 9 लोगों की हो चुकी गिरफ्तारी

कोयला घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सीएमओ (मुख्यमंत्री कार्यालय) में उप सचिव रहीं सौम्या चौरसिया को बीते साल 2 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद 15 दिसंबर को उन्हें सचिवालय से निलंबित कर दिया गया था. 11 दिसंबर को इसी मामले में ईडी ने आईएएस अधिकारियों समेत कुछ अन्य की 152.31 करोड़ रुपये की चल और अचल संपत्ति कुर्क की थी.

इससे पहले इस मामले में 9 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इनमें राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी चौरसिया, सूर्यकांत तिवारी, उनके चाचा लक्ष्मीकांत तिवारी, छत्तीसगढ़ कैडर के आईएएस अधिकारी समीर विश्नोई और एक अन्य कोयला कारोबारी सुनील अग्रवाल शामिल हैं.