RO NO.....12737/20

छत्तीसगढ़: नशे में धुत्त होकर स्कूल पहुंची शिक्षिका, ग्रामीणों ने की हटाने की मांग

0
203

जशपुर जिले में आये दिन शराबी शिक्षकों के मामले सामने आते रहते हैं। लेकिन अब एक स्कूल में पदस्थ महिला शिक्षिका के शराब पीकर स्कूल आने से स्कुली बच्चे और गांव के लोग परेशान हैं। शिक्षिका पिछले 4 दिनों से स्कूल से गायब हैं और इसके स्कूल ना आने से मिड डे मील योजना प्रभावित हो गई है। गांव के लोगो ने स्कूल टीचर को हटाये जाने की मांग की है।

RO NO.....12737/20

नशे की हालात में शिक्षिका स्कूल आती

बगीचा विकासखण्ड के प्राथमिक शाला लोरो की टीचर नीलिमा सुषमा एक्का एक महीने पहले स्कूल में शिक्षिका पद के लिए नियुक्त हुई हैं। उनके स्कूल में नियुक्त होने के बाद से यहाँ के स्कुली बच्चों की पढ़ाई ठप्प है।गावं वालो का आरोप है टीचर शराब के नशे में स्कूल आती हैं और स्कूल आने के बाद भी वो अध्यापन कार्य नहीं करातीं हैं। ग्रामीणो ने ग्राम सभा के दिन शिक्षिका को स्वर व्यंजन और पहाड़ा लिखने को कहा जिसे शिक्षिका नहीं लिख पाई। ग्रामीणों का आरोप है कि 26 जनवरी के दिन भी शिक्षिका शराब के नशे में स्कूल पहुँची थीं।

बच्चों के मिड डे मील पर बुरा प्रभाव
पिछले 4 दिनों से शिक्षिका बिना किसी सूचना के स्कूल से गायब हैं और स्कूल के जिस कमरे में मिड डे मील के लिए राशन रखा जाता था। उस कमरे की चाभी लेकर वो लगातार स्कूल नही आ रही हैं। जिससे मिड डे मील बहुत ज्यादा प्रभावित है। स्कूल में उचें पद के एक शिक्षक और गांव के लोग मिलकर दाल चावल बच्चों को खिला रहे हैं। शिक्षिका के खिलाफ ग्रामीणों में जमकर नाराजगी दिख रही है और उन्होंने इन्हें यहाँ से हटाने की मांग की है वहीं डीईओ का कहना है कि इस शिक्षा सत्र में आधा दर्जन से अधिक शराबी शिक्षको के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इन पर भी जांच के बाद कार्रवाई होगी।